Wednesday , January 24 2018

शाम में नए खु़फ़ीया ऐटमी प्लांट की मौजूदगी का इन्किशाफ़

जर्मनी के एक कसीरुल इशाअत जरीदे दारा श्पीगल ने ज़राए के हवाले से दावा किया है कि शाम के सदर बशारुल असद ने खु़फ़ीया तौर पर ज़ेरे ज़मीन एक जौहरी प्लांट क़ायम किया है जिस में ऐटमी हथियारों की तैयारी का काम जारी रहे।

जर्मनी के एक कसीरुल इशाअत जरीदे दारा श्पीगल ने ज़राए के हवाले से दावा किया है कि शाम के सदर बशारुल असद ने खु़फ़ीया तौर पर ज़ेरे ज़मीन एक जौहरी प्लांट क़ायम किया है जिस में ऐटमी हथियारों की तैयारी का काम जारी रहे।

जरीदे ने हफ़्ता के रोज़ अपनी इशाअत में शामिल रिपोर्ट में बताया है कि खु़फ़ीया तौर पर क़ायम किया गया ये ऐटमी रीएक्टर लेबनान की सरहद से तक़रीबन दो किलोमीटर दूर मग़रिबी शाम में अल क़सीर के पहाड़ी इलाक़े वारा अल मसालक में वाक़े है।

जरीदे का दावा है कि उसे सेटलाईट से शामी हुकूमत के खु़फ़ीया ऐटमी रीएक्टर की तसावीर मौसूल हुई हैं। इस के इलावा बैनुल अक़वामी इन्टेलीजेन्स इदारों ने भी इस के बारे में अहम मालूमात हासिल की हैं।

2007 में इस प्लांट पर फ़िज़ाई हमला किया गया था जिस के नतीजे में प्लांट को बुरी तरह नुक़्सान पहुंचा। शाम ने इस हमले का इल्ज़ाम इसराईल पर आयद किया था ताहम इसराईल ने उस की तसदीक़ या तरदीद नहीं की।

TOPPOPULARRECENT