Sunday , January 21 2018

शाम में पहली बार अमरीकी ज़मीनी दस्तों की तैनाती का फ़ैसला

अमरीका हुकूमत के एक आला अहलकार ने कहा है कि सदर बाराक ओबामा ने शामी तनाज़े के आग़ाज़ के बाद से पहली बार बोहरान ज़दा मुल्क-ए-शाम के शुमाली हिस्से में वाशिंगटन के फ़ौजी दस्तों की तैनाती की मंज़ूरी दे दी है।

वाशिंगटन से जुमा तीस अक्तूबर की शाम मिलने वाली न्यूज़ एजेंसी रोइटर्स की रिपोर्टों के मुताबिक़ इन अमरीकी फ़ौजीयों की तादाद 50 से कम होगी और उनका ताल्लुक़ स्पैशल ऑप्रेशंस करने वाली अमरीकी फ़ोर्सेस से होगा।

ये अमरीकी फ़ौजी शुमाली शाम में पहले से मौजूद शामी बाग़ीयों की उन मुक़ामी ग्रांऊड फ़ोर्सेस के साथ मिलकर काम करेंगे, जो दहश्तगर्द तंज़ीम इस्लामिक स्टेट या दौलते इस्लामीया के ख़िलाफ़ लड़ाई में मसरूफ़ हैं।

रोइटर्स ने ओबामा इंतेज़ामीया के एक सीनीयर अहलकार का हवाला देते हुए लिखा है कि अस्करीयत पसंद ग्रुप इस्लामिक स्टेट, जिसे दाअश भी कहा जाता है, को अस्करी सतह पर नाकाम बनाने के लिए सदर बाराक ओबामा ने ये इजाज़त भी दे दी है कि तुर्की में इनचीरलिक के फ़िज़ाई अड्डे पर वाशिंगटन के A-10 और F-15 जंगी तैयारे भी तैनात कर दिए जाएं।

TOPPOPULARRECENT