Monday , December 18 2017

शाम में बाग़ीयों (विद्रोहियों) को मुसल्लह (सशस्त्र) नहीं किया : अमेरीका

ओबामा इंतिज़ामीया ने अमेरीका की जानिब से शाम में बाग़ीयों (विद्रोहियों) को हथियारों से मुसल्लह (सशस्त्र) करने बारे मीडीया रिपोर्टस को मुस्तर्द (नामंजूर) करते हुए कहा है कि ऐसा कोई भी इक़दाम (कार्य ) सिर्फ और सिर्फ मुल्क में ख़ूँरे

ओबामा इंतिज़ामीया ने अमेरीका की जानिब से शाम में बाग़ीयों (विद्रोहियों) को हथियारों से मुसल्लह (सशस्त्र) करने बारे मीडीया रिपोर्टस को मुस्तर्द (नामंजूर) करते हुए कहा है कि ऐसा कोई भी इक़दाम (कार्य ) सिर्फ और सिर्फ मुल्क में ख़ूँरेज़ी और तशद्दुद (हिंसा) को फ़रोग़ (बढ़ावा) देगा ।

अमेरीकी महिकमा-ए-ख़ारजा की तर्जुमान विक्टोरिया नवलैंड ने मामूल की प्रैस ब्रीफिंग के दौरान बताया कि वाशिंगटन का शाम में बाग़ीयों (विद्रोहियों) को मुसल्लह (सशस्त्र) करने में कोई किरदार नहीं है ।

उन्हों ने कहा कि अमेरीका ने शाम में अपोज़ीशन को हमेशा ग़ैर हथियार मुआवनत फ़राहम करने का फ़ैसला किया है जो कि तिब्बी(चिकित्सीय) साज़-ओ-सामान से मुताल्लिक़ा है ।

उन्हों ने कहा कि हम ने शाम को कोई भी मुआवनत फ़राहम करने के हवाले से दीगर (दुसरे) ममालिकसे भी मुशावरत (मशवरा) की और हमेशा उन की मुशावरत (मशवरा) से फ़ैसले किए हैं।

TOPPOPULARRECENT