Tuesday , December 12 2017

शाम में बागियों के ज़ेर क़ब्ज़ा इलाक़े पर मिज़ाइल हमले

शाम की फ़ौज ने मुल्क के जुनूबी इलाक़े में आज बागियों पर जवाबी जारिहाना हमला किया, जमीन से जमीन पर वार करने वाले मिज़ाईलस दागे़ और इस इलाक़ा में कई फ़िज़ाई हमले किए। एक ग्रुप ने कहा कि एक दिन क़ब्ल शाम की फ़ौज ने बड़े पैमाने पर दिफ़ाई अहमियत के

शाम की फ़ौज ने मुल्क के जुनूबी इलाक़े में आज बागियों पर जवाबी जारिहाना हमला किया, जमीन से जमीन पर वार करने वाले मिज़ाईलस दागे़ और इस इलाक़ा में कई फ़िज़ाई हमले किए। एक ग्रुप ने कहा कि एक दिन क़ब्ल शाम की फ़ौज ने बड़े पैमाने पर दिफ़ाई अहमियत के इलाक़ों पर शाम के मग़रिबी इलाक़ा दारा पर अपना क़बज़ा बहाल करने की कोशिश की थी जिस पर हालिया हफ़्तों में बागियों का क़बज़ा होचुका है।

शामी रसदगाह बराए इंसानी हुक़ूक़ तंज़ीम ने कहा कि इस के एक दिन बाद जारिहाना हमला किया गया।। फ़ौज चाहती है कि हालिया हफ़्तों में बागियों के ज़ेर क़बज़ा गोलान पहाड़ियों को वापिस हासिल करले।

फ़ौज ने 100 राकेट हमले और 15 फ़िज़ाई हमले किए। रात के फ़िज़ाई धावे और शलबारी मुसलसल थी। फ़ौज ने सतह से सतह पर वार करने वाले मिज़ाइल देहात सहीम पर बरसाए। बर्तानिया में क़ायम रसदगाह की शाख़ ने कहा कि फ़िज़ाई धावे के नतीजा में नामालूम तादाद में हलाकतें वाक़ै हुईं।

सरकारी फ़ौज और बागियों के दरमियान झड़पों के नतीजा में अलनसरा के 6 जिहादी हलाक होगए। शाम में दीगर मुक़ामात पर सरकारी फ़िज़ाईया ने 12 फ़िज़ाई धावे दमिशक़ के मशरिक़ में इलाक़ा मलीहा पर किए। ये ज़ेर मुहासिरा शहर को अपने क़बज़ा में लेने के लिए कोशिश थी।

हिज़्बुल्लाह के जंगजू असद की कामयाबी के लिए मैदान-ए-जंग में हैं और इस ग्रुप को इरान की ताईद हासिल है जिस ने शामी हुकूमत की ताईद हासिल करके इस इलाक़ा में अपना असर-ओ-रसूख़ क़ायम करने का मंसूबा बना रखा है।

TOPPOPULARRECENT