Monday , January 22 2018

शाम में हलाकतों की तादाद 5 हज़ार से ज़्यादा होगई : अक़वाम-ए-मुत्तहिदा

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा 14 दिसमबर (पी टी आई) सदर शाम बशारुल असद की हुकूमत के ख़िलाफ़ एहतिजाज के दौरान मुज़ाहिरीन के ख़िलाफ़ फ़ौजी कार्यवाईयों में इबतदा-ए-से अब तक 5 हज़ार से ज़्यादा अफ़राद हलाक किए जा चुके हैं। बशारुल असद के इंसानियत सो

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा 14 दिसमबर (पी टी आई) सदर शाम बशारुल असद की हुकूमत के ख़िलाफ़ एहतिजाज के दौरान मुज़ाहिरीन के ख़िलाफ़ फ़ौजी कार्यवाईयों में इबतदा-ए-से अब तक 5 हज़ार से ज़्यादा अफ़राद हलाक किए जा चुके हैं। बशारुल असद के इंसानियत सो ज़जराइम का मुक़द्दमा बैन-उल-अक़वामी अदालत-ए-फ़ौजदारी के सपुर्द किया जाना चाहीए।

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के कमिशनर बराए इंसानी हुक़ूक़ नवी प्ले ने सलामती कौंसल को आज शाम में एहितजाजी मुज़ाहिरों के ख़िलाफ़ वहशयाना कार्रवाई की तफ़सीलात ब्यान करते हुए बंद कमरा के एक इजलास में कहा कि इंसानी हुक़ूक़ की ख़िलाफ़ वरज़ीयां सदमा अंगेज़ हैं। शाम में 9 माह तवील शोरिश में 5 हज़ार से ज़्यादा जानें ज़ाए होचुकी हैं, जिन में 300 से ज़्यादा बच्चे हैं।

नवी प्ले ने कहा कि उन्हों ने अगस्त में सलामती कौंसल को शहरीयों के ख़िलाफ़ फ़ौजी कार्रवाई में चार माह के अर्सा में 2 हज़ार अफ़राद के हलाक होने की इत्तिलादी थी, लेकिन अब ये तादाद दुगुनी से भी ज़्यादा होगई है। उन्हों ने कहाकि हुकूमत शाम की अपने शहरीयों के ख़िलाफ़ बेरहम कार्रवाई वसीअ पैमाने और मुनज़्ज़म नौईयत की है। हज़ारों अफ़राद को क़ैद ख़ानों में अज़ीयत रसानी की जा रही है। इन इंसानियत सोज़ जराइम का मुक़द्दमा बैन-उल-अक़वामी फ़ौजदारी अदालत से रुजू करना ज़रूरी है।

TOPPOPULARRECENT