Monday , December 18 2017

शाम में क़ियाम अमन का रुकन रहा, आलमी सतह पर बदनामी के डर से बागियों का इक़दाम

दमिश्क़, 10 मार्च: ( ए पी ) : शाम के बागियों ने चार दिन तक यरग़माल बनाए रखने के बाद अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के 21 क़ियाम अमन कारकुनों को आज रिहा कर दिया । इस अचानक इक़दाम का मक़सद आलमी इदारा के साथ अपने तसादुम से गुरेज़ करना है और सदर बशर अल असद को बेद

दमिश्क़, 10 मार्च: ( ए पी ) : शाम के बागियों ने चार दिन तक यरग़माल बनाए रखने के बाद अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के 21 क़ियाम अमन कारकुनों को आज रिहा कर दिया । इस अचानक इक़दाम का मक़सद आलमी इदारा के साथ अपने तसादुम से गुरेज़ करना है और सदर बशर अल असद को बेदखल करने उनकी कोशिशों को मनफ़ी पब्लिसिटी मिलने का अंदेशा था ।

जंगज़दा शाम में अक़वाम-ए-मुत्तहिदा कारकुनों से मुताल्लिक़ नए सवाल उठ रहे हैं । ये क़ियाम अमन फ़ोर्स के कारकुन यहां पर इसराईल _ शाम जंग बंदी की निगरानी करने के लिये गुजश्ता चार दहों से क़ायम हैं । इन तमाम बरसों में उनके साथ कोई वाक़िया रौनुमा नहीं हुआ था ।

फिलीपीन के ये क़ियाम अमन कारकुन शाम से सरहद उबूर कर के अरदन पहूंच गए । दमिश्क़ में अक़वाम-ए-मुत्तहिदा अरब लीग अमन क़ाफ़िला के नुमाइंदा मुख़तार समाई ने कहा कि तमाम रिहा शूदा 21 कारकुन बहिफ़ाज़त अरदन पहूंचे हैं ।

TOPPOPULARRECENT