Tuesday , December 12 2017

शाम में 8 हलाक , अरब लीग मुबस्सिरीन की वापसी पर ज़ोर

अम्मान, ०३ जनवरी( राईटर) अरब लीग की एक मुशावरती कमेटी ने अरब मुबस्सिरीन को फ़ौरन शाम से वापस बुलाने की अपील की है जहां कल 8 अफ़राद मारे गए हैं । इस का कहना है कि उनका मिशन वहां तशद्दुद और ज़्यादतियों को रोकने में नाकाम रहा हैं।

अम्मान, ०३ जनवरी( राईटर) अरब लीग की एक मुशावरती कमेटी ने अरब मुबस्सिरीन को फ़ौरन शाम से वापस बुलाने की अपील की है जहां कल 8 अफ़राद मारे गए हैं । इस का कहना है कि उनका मिशन वहां तशद्दुद और ज़्यादतियों को रोकने में नाकाम रहा हैं।

मुक़ामी राबिता कमेटी ने कहा कि सदर बशार अलासद की फ़ोरसीज़ अवामी मुज़ाहिरों को अरब मुशाहिदीन की नज़रों के सामने आने से रोकने के लिए कार्रवाई कर रहे हैं और 23 दिसंबर को मिशन के आग़ाज़ से अबतक 286 लोगों को मार चुके हैं। इतवार को आठ हलाकतें उस वक़्त हुईं जब सलामती दस्तों ने दमिशक़ के नवाह दारीह मैं मुज़ाहिरीन पर गोली चला दी।

हुकूमत के ख़िलाफ़ मुज़ाहिरे नए साल में भी जारी हैं। मरने वालों में एक बच्चा की हलाकत की भी इत्तिला है जिसे सलामती दस्तों की जानिब से 2012 की पहली हलाकत क़रार दिया जा रहा है। अरब पार्लीमैंट के स्पीकर सालिम दक़बासी ने अरब लीग के सरबराह नबील अलारबी पर ज़ोर दिया हीका वो शाम की हुकूमत की जानिब से शहरीयों की मुसलसल हलाकतों के तनाज़ुर में फ़ौरी तौर पर अरब मुबस्सिरीन को वापिस बुलाऐं।इन की जानिब से ये मुतालिबा ऐसे वक़्त सामने आया है, जब अरब लीग मज़ीद मुबस्सिरीन शाम भेजने की तैयारी कर रही हैं।

नए मुबस्सिरीन की शाम रवानगी जुमेरात को तय है।शाम के लिए अरब लीग के मिशन के सरबराह अदनान ख़ज़ीर का कहना हैं: सऊदी अरब, बहरीन और तीवनस से मज़ीद बीस मुबस्सिर दमिशक़ जाएंगी।दक़बासी ने एक ब्यान में कहा दमिशक़ हुकूमत की कार्यवाहीयां अरब लीग के प्रोटोकोल की वाज़िह ख़िलाफ़वरज़ी हैं, जिस का मक़सद शाम के शहरीयों का तहफ़्फ़ुज़ है।उन्हों ने कहा हम तशद्दुद में इज़ाफ़ा होता हुआ देख रहे हैं, बच्चों समेत मज़ीद लोगों को क़तल किया जा रहा है और ये सब कुछ अरब लीग के मशाहदीनकी मौजूदगी में हो रहा है, जिस पर अरब अवाम मुश्तइल हैं।

क़ब्लअज़ीं पचास मुबस्सिर गुज़शता हफ़्ते को वहां पहुंचे थी। इन की शाम आमद दमिशक़ हुकूमत के साथ अरब लीग के एक मुआहिदे के नतीजे में मुम्किन हुई थी, जिस में रिहायशी इलाक़ों से फ़ौज की वापसी, शहरीयों केख़िलाफ़ तशद्दुद रोकने और क़ैदीयों की रिहाई का मुतालिबा किया गया था। छब्बीस दिसंबर को शुरू होने वाला ये मिशन एक माह जारी रहेगा। सिर्फ एक हफ़्ता में हम ये देखेंगे कि असद अपने वाअदे पर क़ायम रहते हैं या नहीं ।

शाम के सरकारी मीडीया के मुताबिक़ मुशाहिदीन ने इतवार को मुज़ाहिरों के मर्कज़ कई इलाक़ों का दौरा किया।ख़्याल रहे कि अरब पार्लीमैंट उठासी रुकनी मुशावरती कमेटी है, जो लीग के रुकन बाईस ममालिक के अरकान-ए-पार्लीमैंट पर मुश्तमिल है |

TOPPOPULARRECENT