Monday , December 11 2017

शाहीननगर में ज़ामीन का तनाज़ा , हमला में तीन अफ़राद ज़ख़मी

ज़ामीन के तनाज़ा पर एक ग्रुप के हमले में तीन अफ़राद शदीद ज़ख़मी होगए। ये वाक़िये शाहीननगर में पेश आया जहां मुक़ामी शख़्स हुस्न शरीफ़ ने एक ज़ामीन इबराहीम और इसमईल दोनों भाईयों के अलावा अहमद अली ख़ां को भी फ़रोख़त की थी। इस के बाद इस ने किस

ज़ामीन के तनाज़ा पर एक ग्रुप के हमले में तीन अफ़राद शदीद ज़ख़मी होगए। ये वाक़िये शाहीननगर में पेश आया जहां मुक़ामी शख़्स हुस्न शरीफ़ ने एक ज़ामीन इबराहीम और इसमईल दोनों भाईयों के अलावा अहमद अली ख़ां को भी फ़रोख़त की थी। इस के बाद इस ने किसी को भी ज़मीन को क़बजे में नहीं दिया और रक़म भी वापिस नहीं की।

ये तनाज़ा शिद्दत इख़तियार कर गया और इबराहीम-ओ-इसमईल के अलावा अहमद अली ख़ां ने इस ज़ामीन पर तामीरी काम शुरू करने की कोशिश की जिस पर हुस्न और इस के साथीयों ने उन पर क़ातिलाना हमला कर दिया।

जिस के नतीजे में इबराहीम , इसमईल और अहमद तीनों शदीद ज़ख़मी होगए। इन्सपेक्टर पहाड़ीशरीफ़ भास्कर ने बताया कि शिकायत कनुंदा इबराहीम को हुस्न शरीफ़ ने ज़ामीन फ़रोख़त की थी लेकिन हुस्न की वालिदा इस पर नाराज़ थीं और उसकी वजह से हुस्न पर काफ़ी दबाव‌ था और वो ज़ामीन को क़बज़ा में लेने या रक़म वापिस करने से गुरेज़ कररहा था। पुलिस ने हुस्न और इस के हामीयों के ख़िलाफ़ इक़दाम-ए-क़तल का मुक़द्दमा दर्ज करलिया।

TOPPOPULARRECENT