Monday , December 18 2017

शाही इमाम ने फिर बोला अखिलेश की हुकूमत पर हमला

रामपुर, 11 अप्रैल: दिल्ली जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी ने अखिलेश हुकूमत के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। उन्होंने काबीना मंत्री आजम खां का नाम लिए बिना उन पर भी तंज कसे। बोले, जो वजीर अपने घर (रामपुर) में संसदीय सीट नहीं जिता सकता व

रामपुर, 11 अप्रैल: दिल्ली जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी ने अखिलेश हुकूमत के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। उन्होंने काबीना मंत्री आजम खां का नाम लिए बिना उन पर भी तंज कसे। बोले, जो वजीर अपने घर (रामपुर) में संसदीय सीट नहीं जिता सकता वह दूसरे अज़लों में मुसलमानों के वोट क्या दिला पाएगा।

हुकूमत पर हमला बोलते हुए कहा कि यूपी की सपा हुय्कूमत में चारों ओर लूट मची है। मुसलमानों को रोजगार से जोड़ने की बजाय उजाड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा कि रियासत में यादववाद और ठाकुरवाद चल रहा है। आम आदमी को मामूली मुकदमा दर्ज होते ही जेल भेज दिया जाता है, लेकिन पुलिस अफसर के कत्ल में नामजद राजा भैया को गिरफ्तार नहीं किया जा रहा।

मौलाना बुखारी ने बुध के दिन मीडिया से कहा कि सपा ने मुसलमानों को 18 फीसद रिजर्वेशन देने और जेल में बंद बेगुनाहों को रिहा कराने का वादा किया गया था, लेकिन सत्ता में आते ही यह वादों से मुकर गई। 22 फीसद मुसलमानों और आठ फीसद यादवों के वोट से सत्ता में आई सपा मुसलमानों का भला नहीं कर रही।

इलेक्शन से पहले मुलायम सिंह यादव ने कहा था कि सत्ता में आने पर हर थाने में मुसलमान स्टाफ होगा, लेकिन अब हर थाने में यादव है, मुसलमान नहीं। अच्छे जिलों और थानों में थानेदार, कलेक्टर, एसपी सब यादव हैं। यूपी में यादव व ठाकुरवाद चल रहा है। जेल में बंद बेगुनाह मुसलमानों से मुकदमे वापस नहीं हुए, लेकिन मुसलमानों के हाथ पैर काटने की धमकी देने वाले वरुण गांधी से मुकदमे वापस हुए।

रामपुर साकिन सूबे के वजीर से चार मुकदमे वापस लिए जा रहे हैं। मुसलमानों को रिजर्वेशन का फायदा देने के बजाय उजाड़ा जा रहा है।

बुखारी ने बताया कि वह सपा हुकूमत के खिलाफ मुलायम सिंह यादव के गढ़ इटावा से ही 21 अप्रैल को रैली शुरू करने जा रहे हैं। इससे सपा लीडर बेचैन हैं। मुसलमानों को लालच दिया जा रहा है कि वे रैली में शामिल न हों, लेकिन मुसलमान लालच में आने वाले नहीं हैं।

मुसलमान एक साल में सपा से कोसों दूर हो चुका है। मुलायम सिंह रामपुर के जिस वजीर पर भरोसा किए हैं, वह दूसरे जिलों में क्या वोट दिलाएंगे अपने जिले में ही लोकसभा की सीट नहीं जितवा सकते। उन्होंने मुसलमानों से दलितों की तरह सियासी ताकत बनने का ऐलान किया।

TOPPOPULARRECENT