Monday , December 18 2017

शिकागो में दिल्ली इजतेमाई इस्मतरेज़ि की मुतास्सिरा की मौत पर तलबा का जलसा

शिकागो में हिन्दुस्तानी नज़ाद अमरीकी शहरीयों ने जिन की क़ियादत दो नामवर यूनीवर्सिटीयों के तलबा कर रहे थे, दिल्ली की इजतेमाई इस्मतरेज़ि की मुतास्सिरा मुतवफ़्फ़ी लड़की की याद में शम्माएं जलाते हुए एक एहतेजाजी जलसा मुनाक़िद किय

शिकागो में हिन्दुस्तानी नज़ाद अमरीकी शहरीयों ने जिन की क़ियादत दो नामवर यूनीवर्सिटीयों के तलबा कर रहे थे, दिल्ली की इजतेमाई इस्मतरेज़ि की मुतास्सिरा मुतवफ़्फ़ी लड़की की याद में शम्माएं जलाते हुए एक एहतेजाजी जलसा मुनाक़िद किया और हिंदूस्तान के इस्मतरेज़ि के बारे में क़वानीन में तबदीली का मुतालिबा करते हुए कहा कि मुजरिमों को ज़्यादा सख़्त सज़ा का ताय्युन किया जाए ताकि ख्वातीन के ख़िलाफ़ जराइम की तादाद में कमी हो सके। ग्रैजूएशन के हिन्दुस्तानी तलबा ने जो शिकागो यूनीवर्सिटी और नॉर्थ वेस्टर्न यूनीवर्सिटी में ज़ेरतालीम हैं।

इस जलसा का एहतिमाम किया था , ताकि 23 साला फ़िज़ियो थेरापी की तालिबा की इजतेमाई इस्मतरेज़ि की मुज़म्मत की जा सके जिस का सिंगापुर के हस्पताल में दो हफ़्तों तक ज़िंदगी और मौत की कश्मकश में मुबतला रहने के बाद इंतिक़ाल हो चुका है। तलबा ने ख्वातीन के ख़िलाफ़ जराइम की सज़ा में कमी करने की पालिसी सिफ़ारिशात पर मुबाहिसा मुनाक़िद करते हुए ऐसी तजवीज़ को मुस्तर्द कर दिया।

एहतेजाजी प्ले कार्ड्स थामे हुए थे जिन पर तहरीर था हम कमेटियां नहीं , आजलाना इंसाफ़ चाहते हैं, ये दुनिया ख्वातीन की भी है, इन का एहतिराम करो और इस्मतरेज़ि के मुल्ज़िम सियासतदानों को भी ना बख्शा जाए।

TOPPOPULARRECENT