शिकागो लूटपाट- 100 से अधिक लोग गिरफ्तार, 13 अधिकारी घायल

शिकागो लूटपाट- 100 से अधिक लोग गिरफ्तार, 13 अधिकारी घायल

अमेरिका के शिकागो में एक दिन पहले हुई लूटपाट और अराजकता की घटनाओं के बाद सोमवार (10 अगस्त) को 100 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया, जिसके चलते कारोबारी इलाके मैग्निफिसेंट माइल समेत शहर के अन्य हिस्सों में संपत्ति को भारी क्षति पहुंची और 13 अधिकारी घायल हो गए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

पुलिस अधीक्षक डेविड ब्राउन ने कहा, ”यह एक संगठित विरोध नहीं था बल्कि शुद्ध आपराधिक घटना थी। पिछले दिन शहर के पड़ोसी इलाके एंगलवुड में एक व्यक्ति को पुलिस की गोली लगने के बाद यह सब कुछ शुरू हुआ।” सोमवार तड़के ऐसे भी हालात बने, जब पुलिस पर गोलियां चलाई गईं और अधिकारियों ने जवाबी गोलीबारी की। ब्राउन ने कहा कि अगली सूचना तक शहर के भीड़ भरे इलाके में भारी पुलिस बल की तैनाती की संभावना है। शिकागो की मेयर लोरि लाइटफुट ने कहा, ”यह सीधे तौर पर आपराधिक कृत्य था। यह हमारे शहर पर हमला था।”

वहीं, पुलिस प्रवक्ता ने ट्वीट करके कहा कि गोलीबारी में कोई अधिकारी घायल नहीं हुआ। काले व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की 25 मई को मिनियापोलिस में हुई मौत के चलते शिकागो में हुए विरोध-प्रदर्शन के बाद कई व्यापारिक संपत्तियों में तोड़फोड़ की गई थी। ये हाल ही में दोबारा खुले थे जोकि फिर अराजकता की चपेट में आ गए। मैग्निफिसेंट माइल इलाके में रविवार (9 अगस्त) मध्य रात्रि के कुछ ही देर बाद पुलिस विरोधी हालात बनने लगे और अराजकता की स्थिति उत्पन्न हो गई। इससे कुछ ही घंटे पहले करीब 16 किलोमीटर दूर स्थित पड़ोसी इलाके एंगलवुड में रविवार को पुलिस की गोली लगने से एक व्यक्ति के घायल होने के बाद दर्जनों लोग पुलिस से भिड़ गए थे।

शिकागो के सबसे भीड़ भरे पर्यटन स्थल मैग्निफिसेंट माइल इलाके में उग्र भीड़ ने कई व्यापारिक प्रतिष्ठानों, दुकानों और होटलों आदि में लूटपाट की और संपत्ति को नुकसान पहुंचाया। शिकागो ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक, स्टोर में घुसते लोग दिखाई दे रहे थे जोकि सामान से भरा बैग लेकर बाहर निकल रहे थे। इतना ही नहीं भीड़ भरे इलाके से दूर के स्थानों पर भी दुकानों में तोड़फोड़ की गई और वाहन पार्किंग में भी कांच के टुकड़े देखे गए। लूटपाट करने वाले टेलीविजन एवं इलेक्ट्रॉनिक सामान और कपड़े चोरी करके ले गए।

रविवार (9 अगस्त) को हुई गोलीबारी की घटना को लेकर पुलिस ने एक बयान में कहा कि उन्हें दोपहर करीब ढाई बजे बंदूक लिए एक व्यक्ति के बारे में सूचना मिली थी, जिसने पुलिस पर गोलीबारी की। जवाबी गोलीबारी में आरोपी व्यक्ति घायल हो गया। बाद में किसी ने अफवाह फैला दी कि पुलिस की गोली से एक बच्चा घायल हो गया है।

Top Stories