शिवपाल यादव की पार्टी (प्रसपा) मुलायम सिंह के जन्मदिन को “सेक्युलर डे” के रूप में मनाएगी

पार्टी महासचिव ने कहा कि इस अवसर पर प्रसपा की सभी जिला एवं महानगर इकाइयों के अध्यक्षों एवं पार्टी के पदाधिकारियों से कहा गया है कि वे समाज के गरीब, दीन-दुखियों तथा मजदूरों के बीच जाकर मुलायम के दीर्घायु होने की कामना करते हुए फल वितरण करें.

शिवपाल यादव की पार्टी (प्रसपा) मुलायम सिंह के जन्मदिन को “सेक्युलर डे” के रूप में मनाएगी

शिवपाल यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया (प्रसपा) आगामी 22 नवम्बर को पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव का जन्मदिन ‘धर्म निरपेक्षता दिवस’ के रूप में मनाएगी. पार्टी के महासचिव आदित्य यादव ने मंगलवार को यहां जारी एक बयान में कहा कि उनकी पार्टी, सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव का आगामी 22 नवम्बर को 79वां जन्म दिवस ‘धर्म निरपेक्षता दिवस’ के रूप में मनाएगी ताकि लोकजीवन में धर्म निरपेक्षता एवं सामाजिक सद्भाव जैसे शाश्वत मूल्यों को ताकत मिले.

पार्टी महासचिव ने कहा कि इस अवसर पर प्रसपा की सभी जिला एवं महानगर इकाइयों के अध्यक्षों एवं पार्टी के पदाधिकारियों से कहा गया है कि वे समाज के गरीब, दीन-दुखियों तथा मजदूरों के बीच जाकर मुलायम के दीर्घायु होने की कामना करते हुए फल वितरण करें. साथ ही रक्त दान शिविर, संगोष्ठियों तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करें.

पार्टी के महासचिव आदित्य ने बताया कि इसी क्रम में लखनऊ और इटावा के सभी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं से आग्रह है कि वे अपने-अपने जिलों में मुलायम के जन्मदिन को बड़े स्तर पर मनायें. अखिलेश यादव की अगुवाई वाली सपा के वरिष्ठ नेता शिवपाल सिंह यादव ने पार्टी में हो रही अपनी उपेक्षा से नाराज होकर इस साल अगस्त में समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन किया था. बाद में इसे प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया के रूप में पंजीकृत किया गया था.

सपा और प्रसपा के बीच खुद को मुलायम के करीब दिखाने की होड़ लगी है. मुलायम सिंह न तो भाई शिवपाल को नाराज करना चाहते हैं और न ही बेटे अखिलेश यादव को, यही वजह है कि अलग-अलग मौकों पर वह दोनों ही पार्टियों के कार्यक्रम में शिरकत करते आए हैं.

Top Stories