Sunday , November 19 2017
Home / India / शिवसेना कारकुन बी सी सी आई हेडक्वार्टर में घुस पड़े

शिवसेना कारकुन बी सी सी आई हेडक्वार्टर में घुस पड़े

मुंबई: पाकिस्तानी शख्सियतों के ख़िलाफ़ अपनी जारिहाना मुहिम जारी रखते हुए शिवसेना कारकुन आज इंडियन क्रिकेट बोर्ड हेडक्वार्टर्स में घुस पड़े जहां उन्होंने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ( पी सी बी ) सरबराह शहरयार ख़ान के ख़िलाफ़ नारे लगाए। उसकी वजह से दोनों ममालिक के माबेन क्रिकेट रवाबित की बहाली के मक़सद से तए शूदा बात चीत मंसूख़ करनी पड़ी।

मुजव्वज़ा बाहमी सीरीज़ के सिलसिले में बात चीत दिल्ली में कल मुनाक़िद होगी। इस हमले के बाद इन डी ए पार्टनर्स में बढ़ते इख़तेलाफ़ात भी अयाँ हो गए हैं। सदर रियासती बी जे पी राव‌ साहिब दानवी ने कहा कि इनकी पार्टी शिवसेना की इस तरह की हरकतों से इत्तेफ़ाक़ नहीं करती और अगर यहां मैच मुनाक़िद किया जाये तो पाकिस्तानी टीम को तहफ़्फ़ुज़ फ़राहम करेगी।

शिवसेना के 10 कारकुनों को पुलिस कमिशनर के अहकामात की ख़िलाफ़वरज़ी करते हुए जमा होने पर गिरफ़्तार करलिया गया। एक सीनियर पुलिस ओहदेदार ने बताया कि इन तमाम की बादअज़ां मुक़ामी अदालत में 2000 रुपये के शख़्सी मुचल्का पर ज़मानत मंज़ूरी करली गई।

बोरीड आफ़ कंट्रोल फ़ार क्रिकेट इंडिया ( बी सी सी आई ) हेडक्वार्टर के बाहर हज़ारों शिवसेना कारकुन प्लेकार्ड्स थामे नारेबाज़ी कर रहे थे और उन्होंने सदर बी सी सी आई शशंक मनोहर का घेराव‌ किया जिसकी वजह से उनकी शहरयार ख़ान के साथ मुनाक़िद शुदणी बात चीत मंसूख़ कर दी गई।

सदर नशीन आई पी एल और सीनियर बोर्ड ओहदेदार राजेश शुक्ला ने कहा कि मुज़ाकरात को ख़त्म नहीं किया गया है बल्कि ये जारी रहेंगे। इन्होंने बताया कि शशंक मनोहर और शहरयार ख़ान आज रात यह कल दिल्ली आरहे हैं जहां मुज़ाकरात का दूसरा दौर होगा। पाकिस्तान और पी सी बी सदर नशीन के ख़िलाफ़ नारेबाज़ी करते हुए शिवसेना कारकुन शशंक मनोहर से उलझ गए और कहा कि उन्हें पड़ोसी मुल्क के साथ किसी तरह के रवाबित उस्तिवार कर ना नहीं चाहिए क्योंकि वो दहशतगर्दी की सरपरस्ती कर रहा है।

ये कारकुन स्याह और ज़ाफ़रानी पर्चम लिए मनोहर से बार-बार ये सवाल कर रहे थे कि क्या वो पी सी बी सरबराह से मुलाक़ात करेंगे। सेना विभाग परमोक पांडव रंग सुकपाल ने ज़राए इब्लाग़ के नुमाइंदों से बात चीत करते हुए कहा कि इनकी पार्टी का ये मौक़िफ़ है कि दोनों पड़ोसी ममालिक के माबेन क्रिकेट मे चस नहीं होने चाहिए।

आज किए गए इस हमले की शिवसेना की हलीफ़ बी जे पी ने मज़म्मत करते हुए कहा कि ग़ुंडा गर्दी के लिए कोई जगह नहीं है जबकि कांग्रेस ने उसे नाक़ाबिल माफ़ी क़रार दिया है।

TOPPOPULARRECENT