Tuesday , January 23 2018

शिवसेना की मांग को बीजेपी ने ठुकराया

महाराष्ट्र में बीजेपी हुकूमत बनाने के लिए इत्तेहाद की सियासत करने में लगी हुई है। ऐसे में शिवसेना पर्दे के पीछे से सियासत कर रही है। ज़राये की मानें तो शिवसेना ने बीजेपी को तजवीज देने के साथ ही बडी मांगें रखी है। शिवसेना ने नायब वज़

महाराष्ट्र में बीजेपी हुकूमत बनाने के लिए इत्तेहाद की सियासत करने में लगी हुई है। ऐसे में शिवसेना पर्दे के पीछे से सियासत कर रही है। ज़राये की मानें तो शिवसेना ने बीजेपी को तजवीज देने के साथ ही बडी मांगें रखी है। शिवसेना ने नायब वज़ीर ए आला , वज़ारत दाखिला , पीडब्लूडी और वज़ारत खज़ाना मांगा है। ऐसा लगता है कि शिवसेना 1995 का फॉर्मूला चाहती है। लेकिन, बीजेपी ने इसे ठुकरा दिया है।

ज़राये के मुताबिक आज नितिन गडकरी नागपुर जाएंगे और मोहन भागवत से मुलाकात कर सकते हैं। बीजेपी के पास अक्सरियत से 22 एमएलए कम हैं और उसकी नजर दिगर 19 एमएलए में से अपने हक में ज्यादा एमएलए को लाने की है। एमएनएस का 1, बहुजन विकास अग़ाडी के तीन, भरिपा बहुजन महासंघ का एक, पीजेंट्स एंड वर्क्स पार्टी ऑफ इंडिया के तीन और सात निर्दलीय एमएलए को साथ लेने की कोशिश बीजेपी करेगी।

वहीं, एनसीपी ने बीजेपी को ऑफर दिया, जिस पर बीजेपी अभी तक फैसला नहीे ले पाई है। 15 निर्दलीय ( आज़ाद उम्मीदवार के ) एमएलए बीजेपी के साथ हो जाते हैं तो बीजेपी सिर्फ सात सीट दूर रह जाएगी और शिवसेना पर इत्तेहाद का दबाव बढेगा।

TOPPOPULARRECENT