Thursday , December 14 2017

शीया वक़्फ़ बोर्ड कम्यूनिटी का प्रतिनिधि नहीं है, सिर्फ सुप्रीमकोर्ट के फ़ैसले स्वीकार्य: तंज़ीम अली कांग्रेस

लखनऊ: उत्तरप्रदेश शीया वक़्फ़ बोर्ड के बाबरी मस्जिद विवाद में मैं सर-गर्म होने के बाद शीया बिरादरी में उसकी विरोध स्थानांतरित हो गई है । आज यहां तंज़ीम अली कांग्रेस ने स्पष्ट तौर पर कहा उनकी बिरादरी बाबरी मस्जिद । राम जन्मभूमि विवाद में सिर्फ सुप्रीमकोर्ट का फ़ैसला ही स्वीकार करेगी। तंज़ीम अली कांग्रेस की तरफ से बोलते हुए रूबीना जावेद मुर्तज़ा ने जनता से अपील की वो इस मामले पर कोर्ट के फ़ैसले को खुले दिल से स्वागत करें।

उन्होंने भारत के सभी लोगों से अपील की, “हार या जीत के रूप में सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले को शिकस्त या फ़तह के तौर पर ना लें। सुश्री रूबीना ने कहा कि शीया सेंट्रल वक़्फ़ बोर्ड , भारत‌ या प्रदेश के शीया बिरादरी समुदाय नहीं है , उन्होंने कहा उस का बाबरी मस्जिद पर कोई हक़ नहीं है । तंज़ीम के जनरल सेक्रेटरी असग़र मह्दी ने कहा कि शीया वक़्फ़ बोर्ड का दावा पहले ही ख़ारिज किया जा चुका है , उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद को बाबर के आदेश पर बनाया गया था और उन्होंने इसे सुना। मिस्टर मह्दी ने इल्ज़ाम लगाया कि इस मुद्दे पर ओम का इस्तिहसाल किया गया , और राजनीतिक फ़ायदा उठाया गया है ।

TOPPOPULARRECENT