Wednesday , December 13 2017

शीला गिक्षित‌ की बहैसियत गवर्नर हल्फ़ बर्दारी

सीनियर कांग्रेस क़ाइद और दिल्ली की साबिक़ वज़ीर-ए-आला शीला गिक्षित‌ ने आज राज भवन में केरला के गवर्नर की हैसियत से हल्फ़ लिया। केरला हाईकोर्ट की चीफ़ जस्टिस मंजूला चीलोर ने उन्हें ओहदा का हल्फ़ दिलाया।

सीनियर कांग्रेस क़ाइद और दिल्ली की साबिक़ वज़ीर-ए-आला शीला गिक्षित‌ ने आज राज भवन में केरला के गवर्नर की हैसियत से हल्फ़ लिया। केरला हाईकोर्ट की चीफ़ जस्टिस मंजूला चीलोर ने उन्हें ओहदा का हल्फ़ दिलाया।

इस मौके पर वज़ीर-ए-आला ओमन चंडी और उनके काबीनी साथी भी तक़रीब में मौजूद थे। 75 साला शीला गिक्षित‌ के पेशरू निखिल कुमार चूँकि रियासत बिहार के औरंगाबाद हलक़ा से लोक सभा इंतिख़ाबात लड़ने वाले हैं लिहाज़ा उन्होंने गवर्नर की हैसियत से अपना इस्तीफ़ा पेश कर दिया।

राज भवन में एक सादा सी तक़रीब का एहतिमाम किया गया था जिस में शीला गिक्षित‌ के ख़ैर ख्वाहों व‌ अरकान ख़ानदान और उनके साबिक़ काबीनी साथी भी मौजूद थे। यहां इस बात का तज़किरा ज़रूरी है कि शीला गिक्षित‌ ने 1998 ता 2013 नई दिल्ली की वज़ीर-ए-आला की हैसियत से अपनी बेशबहा ख़िदमात अंजाम दीं। 2013 असेंबली इंतिख़ाबात में कांग्रेस को हार‌ के बाद शीला गिक्षित‌ को अपने ओहदा से मुस्ताफ़ी होना पड़ा था।

TOPPOPULARRECENT