Thursday , December 14 2017

शुमाली कोरिया के मसला पर ग़ौर के लिए सलामती कौंसल का हंगामी इजलास

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा सलामती कौंसल का हंगामी इजलास आज मुनाक़िद होगा जिस में शुमाली कोरिया की जानिब से राकेट तजुर्बे के बाद की सूरत-ए-हाल पर तबादला-ए-ख़्याल किया गया जाएगा। ये बात अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के एक सिफ़ारत कार ने बताई।

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा सलामती कौंसल का हंगामी इजलास आज मुनाक़िद होगा जिस में शुमाली कोरिया की जानिब से राकेट तजुर्बे के बाद की सूरत-ए-हाल पर तबादला-ए-ख़्याल किया गया जाएगा। ये बात अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के एक सिफ़ारत कार ने बताई।

सिफ़ारत कार ने बताया कि 5 रुकनी कौंसल तजुर्बे के बाद अपने आइन्दा के लायेहा-ए-अमल का फ़ैसला करने के लिए मुलाक़ात करेगी जिसमें अमेरीका और दीगर कई ममालिक का दावा है कि दर हक़ीक़त ये एक मिज़ाईल तजुर्बा है।अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के लिए रूस के नुमाइंदे वीटा ले चरकन का क़ब्लअज़ीं कहना था कि तमाम कौंसल मेंम्ब्रान इस बात से इत्तेफ़ाक़ करते हैं कि तजुर्बा अक़वाम-ए-मुत्तहिदा क़रारदादों की मुख़ालिफ़त होगी जो कि 2009 में पियाइंग यांग के आख़िरी मर्तबा जौहरी तजुर्बे के बाद से आइद की गई थीं और उन में शुमाली कोरिया पर एटमी तजुर्बे की पाबंदी आइद की गई है।

TOPPOPULARRECENT