Monday , December 18 2017

शुमाली कोरिया: राकेट लॉंचिंग में नाकामी का एतराफ़

बैन-उल-अक़वामी दबाव, मुख़ालिफ़त और मुज़म्मत के बावजूद शुमाली कोरिया ने राकेट लॉंचिंग का तजुर्बा किया जो नाकाम रहा। शुमाली कोरिया ने भी राकेट लॉन्च की नाकामी का एतराफ़ कर लिया। शुमाली कोरिया ओहदेदार के मुताबिक़ ज़मीन का मुशाहिदा करने व

बैन-उल-अक़वामी दबाव, मुख़ालिफ़त और मुज़म्मत के बावजूद शुमाली कोरिया ने राकेट लॉंचिंग का तजुर्बा किया जो नाकाम रहा। शुमाली कोरिया ने भी राकेट लॉन्च की नाकामी का एतराफ़ कर लिया। शुमाली कोरिया ओहदेदार के मुताबिक़ ज़मीन का मुशाहिदा करने वाला मस्नूई स्यारा मदार में दाख़िल होने में नाकाम होगया है। इन का कहना है कि साईंसदान, तकनीकी अमला और माहिरीन नाकामी की वजूहात जानने की कोशिश कर रहे हैं।

शुमाली कोरिया ने मुक़ामी वक़्त के मुताबिक़ सुबह सात बजकर उनतालिस मिनट पर टोनग चैंग री लॉन्च साईट से तवील मुसाफ़ती राकेट ख़ला में रवाना किया ताहम राकेट परवाज़ के डेढ़ मिनट बाद ही टुकड़ों में तबदील हो कर समुंद्र में जा गिरा। शुमाली कोरिया की जानिब से राकेट लॉन्च किए जाने के बाद अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की सलामती कौंसल का इजलास आज तलब कर लिया गया है।शुमाली कोरिया की जानिब से राकेट दाग़ने के तजुर्बा के नाम काम होजाने के बावजूद अमरीका और जुनूबी कोरिया ने इस तजुर्बा की शदीद मुज़म्मत करते हुए कहा कि इस से इस इलाक़ा की सलामती और अमन को ख़तरा लाहक़ होगया है क्योंकि इस तजुर्बा से वाज़िह हो गया है कि शुमाली कोरिया न्यूक्लियर हथियार तैय्यार करने के प्रोग्राम पर अमल पैरा है। अगर वो इस कोशिश में कामयाब हो जाय तो इस इलाक़ा में ताक़त का तवाज़ुन बिगड़ सकता है

TOPPOPULARRECENT