Thursday , December 14 2017

शोपियाँ में एहितजाजी मुज़ाहिरीन पर फायरिंग

जम्मू-ओ-कश्मीर के शोपियाँ टाउन में आज फिर तशद्दुद भड़क उठा और एहितजाजी मुज़ाहिरीन पर सेक्यूरिटी फोर्सेस की फायरिंग में एक नौजवान हलाक व दीगर 13 ज़ख़्मी होगए।

जम्मू-ओ-कश्मीर के शोपियाँ टाउन में आज फिर तशद्दुद भड़क उठा और एहितजाजी मुज़ाहिरीन पर सेक्यूरिटी फोर्सेस की फायरिंग में एक नौजवान हलाक व दीगर 13 ज़ख़्मी होगए।

सी आर पी एफ़ की हफ़्ते के दिन की गई फायरिंग में 4 अफ़राद हलाक हुए थे। सरकारी ज़राए ने बताया कि गागर इन गांव में सी आर पी एफ़ कैंप के बाहर एहितजाजी मुज़ाहरा किया गया और उन्हें मुंतशिर करने के लिए सी आर पी एफ़ की मुबय्यना फायरिंग में रफ़ीक़ अहमद राथर हलाक होगए।

अवाम की कसीर तादाद सी आर पी एफ़ फायरिंग में 4 अफ़राद की हलाकत के ख़िलाफ़ इस कैंप के बाहर जमा होगई थी। ये एहितजाजी इस मुक़ाम से सी आर पी एफ़ कैंप की बरख़ास्तगी और क़त्ल में मुलव्वस ज़िम्मेदारों की गिरफ़्तारी का मुतालिबा कररहे थे। झड़पों में तक़रीबन 13 अफ़राद ज़ख़्मी होगए। इस के इलावा टाउन के दीगर मुक़ामात में भी एहितजाजी मुज़ाहिरे किए गए जहां सेक्यूरिटी फोर्सेस ने हवाई फायरिंग की और मुज़ाहिरीन पर आँसू गैस के शेल छोड़े। इस के इलावा बाअज़ मुक़ामात पर ताक़त का भी इस्तिमाल किया गया ताकि ला ऐंड आर्डर की सूरत-ए-हाल बहाल हो सके।

रफ़ीक़ अहमद राथर की मौत के फ़ौरी बाद एहितजाजी बरहमी के आलम में सड़कों पर निकल आए और उन्होंने टाउन में एक सीनियर ओहदेदार की सरकारी रिहायश गाह पर तोड़फोड़ मचाई और उसे नज़र-ए-आतिश कर दिया। जुनूबी कश्मीर में इतवार को सेक्यूरिटी फोर्सेस और एहितजाजी अवाम के माबैन झड़पों के बाद कर्फ़्यू नाफ़िज़ कर दिया गया था।
कल सुबह कर्फ़यू बर्ख़ास्त किया गया।

TOPPOPULARRECENT