Wednesday , December 13 2017

शोबा अरबी जामिआ उस्मानिया में दाख़िले

हैदराबाद ।०१ मई: यूनीवर्सिटी प्रैस नोट के मुताबिक़ एम ए (अरबी) ऐंटरैंस के लिए दरख़ास्त फॉर्म्स दाख़िल करने की आख़िरी तारीख़ 4 मई, 200 रुपय ताख़ीर फ़ीस के साथ 11 मई और 400 रुपय ताख़ीर फ़ीस के साथ 18 मई मुक़र्रर ही। जामिआ उस्मानिया का शोबा अर

हैदराबाद ।०१ मई: यूनीवर्सिटी प्रैस नोट के मुताबिक़ एम ए (अरबी) ऐंटरैंस के लिए दरख़ास्त फॉर्म्स दाख़िल करने की आख़िरी तारीख़ 4 मई, 200 रुपय ताख़ीर फ़ीस के साथ 11 मई और 400 रुपय ताख़ीर फ़ीस के साथ 18 मई मुक़र्रर ही। जामिआ उस्मानिया का शोबा अरबी हिंदूस्तान का दूसरा बड़ा शोबा है, जिस को यूनीवर्सिटी ग्रान्ट्स कमीशन की जानिब से ख़ुसूसी मौक़िफ़ हासिल ही। यू जी सी के माली तआवुन से निहायत असरी लैंग्वेज लयाब और असरी अदब से लैस मुकम्मल अर कंडीशन लाइब्रेरी तलबा के इस्तिफ़ादा के लिए क़ायम की गई है। शोबा अरबी के अज़ीम तालीमी मयार की तरफ़ नज़र करते हुए अरबी दुनिया के बेशतर तलबा ऐम ई, पी एचडी और पी जी डिप्लोमा इन ट्रांसलेशन में तालीम हासिल कर रहे हैं।

फ़िलवक़्त शोबा के मुख़्तलिफ़ कोर्सेस में 70 से ज़्यादा अरब तलबा ज़ेर-ए-तालीम हैं। उस्मानिया यूनीवर्सिटी में रोज़गार से मरबूत जदीद तालीमी निसाब नाफ़िज़ उल-अमल ही, जिस की आज के दौर में बड़ी एहमीयत-ओ-इफ़ादीयत है। यहां ये बात काबिल-ए-ज़िकर है कि शोबा अरबी के फ़ारग़ीन अरबी-ओ-अंग्रेज़ी में क़ाबिलीयत की बिना पर बैन-उल-अक़वामी कंपनीयों मैं मुतर्जिम की हैसियत से बहुत माक़ूल मुशाहिरा पर ख़िदमात अंजाम दे रहे हैं, जिन में चंद काबिल-ए-ज़िकर कंपनीयां Infosys, Google, Genpact वग़ैरा हैं।

वो तलबा जो बी ए , बी एससी, बी काम, बी ए ईल और फ़ाज़िल निज़ामीया (मा अंग्रेज़ी) कामयाब करचुके हूँ या साल आख़िर का इमतिहान लिख चुके हूँ, फ़ार्म दाख़िल करने केलिए अहल हैं। ख़ाहिशमंद तलबा शोबा अरबी से रास्त या बज़रीया मोबाईल सदर शोबा अरबी 9949351984 , चेयरमैन शोबा अरबी 9392495669 , ऑफ़िस 040-27682298 पर राब्ता कर‌ सकते हैं।

TOPPOPULARRECENT