शोमा समेत चार को गोवा पुलिस भेजेगी समन!

शोमा समेत चार को गोवा पुलिस भेजेगी समन!
गोवा पुलिस ने तहलका के एडिटर तरुण तेजपाल के खिलाफ सेक्सुअल हरासमेंट के मामले में मैगजीन की साबिका मैनेजिंग एडिटर शोमा चौधरी और दिगर तीन मुलाज़्मीन को समन भेजने की मुहिम बनाई है | एक मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज कराने के लिए शोमा औ

गोवा पुलिस ने तहलका के एडिटर तरुण तेजपाल के खिलाफ सेक्सुअल हरासमेंट के मामले में मैगजीन की साबिका मैनेजिंग एडिटर शोमा चौधरी और दिगर तीन मुलाज़्मीन को समन भेजने की मुहिम बनाई है | एक मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज कराने के लिए शोमा और दिगर तीन गवाहों को जल्द बुलाया जा सकता है | क्राइम ब्रांच के एक सीनियर अफसर ने कहा, हमने अदालत से इज़ाज़त मांगी है कि शोमा चौधरी और दिगर गवाहों को मजिस्ट्रेट के सामने उनके बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया जाए उधर, चीफ मिनिस्टर मनोहर पार्रिकर ने कहा कि इस मामले में करीब एक से डेढ़ महीने के अंदर दाखिल कर दी जाएगी |

गोवा पुलिस की एक टीम ने तफ्तीश के शुरुआती सतह पर दिल्ली में भी शोमा का बयान दर्ज किया था | उस वक्त उन्होंने अपना ओहदा नहीं छोड़ा था | आफीसर ने कहा कि शोमा का बयान बहुत अहम है, क्योंकि सेक्सुअल हरासमेंट के वाकियाके बारे में उन्हें सबसे पहले मालूमात हासिल हुई थी | किसी मेट्रोपोलिटन या जुडिशल मजिस्ट्रेट के सीआरपीसी की दफा 164 के तहत दर्ज कोई बयान या इकबालिया बयान कोर्ट में सबूत के तौर पर मंज़ूर होता है | क्राइम ब्रांच के आफीसर ने कहा कि चारों लोगों को कोर्ट के बयान दर्ज करने की तारीख मिलने के बाद बुलाया जाएगा |

दूसरी तरफ, चीफ मिनिस्टर पार्रिकर ने बुध के रोज़ एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि पुलिस एक से डेढ़ महीने के अंदर चार्जशीट दाखिल करेगी | उन्होंने मामले की जांच में किसी तरह की सियासी मुदाखिलत की बात से इनकार किया | पार्रिकर के मुताबिक वह तय करेंगे कि तेजपाल को मामले में इंसाफ मिले | उन्होंने कहा, ‘मैं इस बात का यकीन करूंगा कि तेजपाल को इंसाफ मिले | इंसाफ मिलने का मतलब यह नहीं है कि उन्हें सजा नही दी जाएगी बल्कि इसका मतलब है कि मामले में मुंसिफाना तरीके से जांच होगी |

इस बीच, जुडिशियल मजिस्ट्रेट (फर्स्ट क्लास) जोशी ने जेल में पंखा लगाने के लिए तेजपाल की दरखास्त को खारिज कर दिया, जहां वह हफ्ते से पुलिस हिरासत में बंद हैं | तेजपाल के वकील ने 2 दिसंबर को कोर्ट से अपील की थी कि इंसानी हुकूक की बुनियाद पर जेल की कोठरी में पंखा लगाया जाए |

तेजपाल की बुध के रोज़ दूसरे राउंड की मेडिकल जांच कराई गईं | अपनी साथी सहाफी का मुबय्यना तौर पर sexual harassment के मामले में गिरफ्तार तेजपाल का पीर के रोज़ कई तरह के मेडिकल टेस्ट कराए गए थे | इनमें पोटेंसी टेस्ट भी शामिल था, जिसका रिजल्ट पॉजिटिव आया था |

Top Stories