Friday , November 24 2017
Home / Khaas Khabar / संजय को माफी दिलाने की हर कोशिश करेंगे: प्रिया

संजय को माफी दिलाने की हर कोशिश करेंगे: प्रिया

मुंबई, 24 मार्च: (एजेंसी) 1993 के मुंबई धमाकों के लिए मुजरिम करार दिए गए अदाकार संजय दत्त को सलाखों से बचाने की मुहिम जोर पकड़ती जा रही है।

मुंबई, 24 मार्च: (एजेंसी) 1993 के मुंबई धमाकों के लिए मुजरिम करार दिए गए अदाकार संजय दत्त को सलाखों से बचाने की मुहिम जोर पकड़ती जा रही है।

इस मुहिम को तेज करने में उनके घर वाले भी जोर-शोर से जुट गए हैं। उनकी बहन और कांग्रेस एमपी प्रिया दत्त ने हफ्ते के दिन कहीं कि संजय को माफी दिलाने के सभी इख्तेयारात को आजमाया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट ने जुमेरात को 1993 में मुंबई बम धमाका मामले में गैरकानूनी हथियार रखने का मुजरिम मानते हुए संजय को पांच साल की सजा सुनाई थी, जिसमें से 18 महीने वे पहले ही जेल में काट चुके हैं।

प्रिया ने कहा, ‘एक बहन होने के नाते, हम हमेशा संजय के साथ हैं। हम उन्हें माफी दिलाने के लिए हर मुतबादिल की तलाश करेंगे।’

प्रिया के मुताबिक अगर कैद का मकसद इस्लाह (सुधार) और जराइम (अपराध) के लिए सजा है, तो मेरा मानना है कि संजय ने दोनों पर अमल किया है।

सुप्रीम कोर्ट की सजा को कुबूल करते हुए द प्रिया ने कहा, ‘हम मजबूती से एक-दूसरे के साथ हैं और एक-दूसरे का हौसला बढ़ा रहे हैं। 20 साल का इम्तेहान अब अपने आखिरी दौर में है।

बीस साल किसी के लिए पूरी जिंदगी होती है। संजय के मामले में यह वक्त तनाव, फिक्र और पछतावे का सबब रहा है।’ संजय की ताइद में उतरे बॉलीवुड और मीडिया का भी प्रिया ने शुक्रिया अदा किया।

अभिनेता संजय दत्त को माफी देने की उठ रही मांगों पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) ने कड़ा ऐतराज जताया है।

संघ के तर्जुमान पांचजन्य में हफ्ते को कहा गया कि आखिर संजय की सजा पर इतनी हाय तौबा क्यों मची हुई है, जबकि उन्हें मामले में कम सजा मिली है।

इदारिया में कहा गया है कि फैसले से मुतास्सिर खानदान वालों को कितनी राहत मिली होगी जो बीते बीस साल से गुस्से में जी रहे थे।

वहीं दूसरी ओर कुछ लोग उस अदाकार ( संजय) के लिए बेवजह हंगामा मचा रहे हैं। फैसले से साफ है कि संजय दत्त को मामले में कम सजा मिली है।

संजय की माफी की बात करने वाले लोगों को यह सोचना चाहिए कि इस धमाके में सैकड़ों बेटों के सिर से उनके वालिद का साया उठ गया था और कई लोगों का मुस्तकबिल तबाह हो गया।

सीनीयर वकील और बीजेपी लीडर महेश जेठमलानी ने कहा है कि हुकूमत के पास सुप्रीम कोर्ट से पांच साल कैद की सजा पाए संजय दत्त को माफ करने का हक नहीं है।

उन्होंने प्रेस कौंसिल के सदर जस्टिस मार्कंडेय काटजू की इस मामले में ‘गलत हक़ाएक’ से भरी बयानबाजी की तनक़ीद की।

काटजू ने ही सबसे पहले संजय दत्त को माफ करने की बात कही थी और उसके बाद दर्जनों लीडर‍ ,अदाकार संजय की सजा माफ करने की वकालत करने के लिए मैदान में उतर पड़े।

जेठमलानी ने कहा कि संजय दत्त को आर्म्स एक्ट में सजा दी गई है और रियासत के गवर्नर को आर्टिकल 161 के तहत इस मामले में सजा पाने वाले को माफी देने का हक नहीं है।

ऐसे में काटजू की तरफ से महाराष्ट्र के गवर्नर को लिखा गया खत गलत हकाएक से भरा है। उन्होंने काटजू को सलाह दी कि उन्हें दिल से सोचने के बजाय दिमाग से सोचना चाहिए।

जेठमलानी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज को ज़ेब नहीं देता कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर गुस्सा ज़ाहिर करें।

सामाजी कारकुनअन्ना हजारे संजय दत्त को माफी दिए जाने के हक में नहीं हैं। उन्होंने कहा कि अदलिया ने अपना यह फैसला दिया है। फैसले से छेड़छाड़ नहीं किया जाना चाहिए। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि जो लोग उनसे मुहब्बत करते हैं, उन्हें संजय की माफी की मांग करने का हक है।

TOPPOPULARRECENT