संवेदनशील वर्गों को पहले दी जाए कोरोना वैक्सीन : सद्गुरु

   

बेंगलुरू, 21 नवंबर । सद्गुरु जग्गी वासुदेव ने शनिवार को डॉक्टरों, पुलिस कर्मियों और फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं जैसे संवेदनशील वर्ग को सबसे पहले कोरोना वैक्सीन प्रदान करने को सर्वोच्च प्राथमिकता देने की अपील की है।

ADVERTISEMENT

बेंगलुरू प्रौद्योगिकी शिखर सम्मेलन (बेंगलुरू टेक समिट-2020) में एक वर्चुअल बातचीत में भाग लेते हुए, सद्गुरु ने कहा कि वह वैक्सीन प्राप्त करने वाले अंतिम व्यक्ति होंगे।

उन्होंने कहा, अगर आप मुझसे टीकों (वैक्सीन) के बारे में पूछते हैं, तो मैं कोविड-19 सहित किसी भी महामारी के लिए टीकाकरण कराने वाला अंतिम व्यक्ति होऊंगा। मेरे हिसाब से पुलिस कर्मियों, डॉक्टरों और उच्च जोखिम वाले समूहों को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जानी चाहिए। उन्हें भारत में महामारी को रोकने के लिए सबसे पहले वैक्सीन दी जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि टीका कमजोर लोगों, बुजुर्गों और बच्चों को भी दिया जाना चाहिए, जो कम प्रतिरक्षा के कारण गंभीर बीमारी की चपेट में आने के अधिक जोखिम में हैं।

सद्गुरु ने कहा कि केंद्र सरकार ने टीकों के प्रशासनिक संबंध में एक दस्तावेज का मसौदा तैयार किया है और यह पहले से ही राज्य सरकारों के साथ साझा किया गया है, ताकि उनसे इनपुट एकत्र किया जा सके।

ADVERTISEMENT

उन्होंने कहा कि सरकार विभिन्न प्राथमिकता वाले आबादी समूहों के डेटाबेस को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया में है।

उन्होंने आगे कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) को परिजनों को बताना चाहिए कि कौन से टीके जरूरी हैं और इस दिशा में क्या विकल्प हैं।

Disclaimer: This story is auto-generated from IANS service.

ADVERTISEMENT