Monday , July 16 2018

संसद में तीन तलाक़ बिल को मुस्लिम विद्वानों से राय मशविरा करने के बाद ही पेश की जाए- पर्सनल लॉ बोर्ड

लखनऊ। तीन तलाक पर देश में चल रही बहस के बीच आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर इस सम्बन्ध में संसद में विधेयक पेश नहीं करने की अपील की है। बोर्ड के अध्यक्ष राबे हसन नदवी ने मोदी को लिखे पत्र में कहा है कि संसद में तीन तलाक के सम्बन्ध में विधेयक पेश नहीं किया जाए।

विधेयक पेश करना यदि जरुरी ही है तो पेश करने से पहले इस बारे में मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के साथ ही मुस्लिम विद्वानों से राय मशविरा कर लिया जाए।

बोर्ड के सदस्य जफरयाब जिलानी ने बताया कि नदवी ने 2 दिन पहले मोदी को पत्र भेजा है। अभी तक उसका कोई जवाब नहीं आया है। गौरतलब है कि गत 24 दिसम्बर को मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की यहां हुई बैठक में प्रधानमंत्री को पत्र लिखे जाने का निर्णय लिया गया था।

बोर्ड ने कहा था कि तीन तलाक के सम्बन्ध में कोई भी विधेयक सदन की पटल पर लाने से पहले मुस्लिम विद्वानों से विचार विमर्श कर लिया जाए।

TOPPOPULARRECENT