Friday , December 15 2017

सऊदी अरब, इमारात, बहरीन का क़तर से सिफ़ारती तनाज़ा ख़त्म

क़तर और इस के तीन ख़लीजी तआवुन कौंसिल रुकन ममालिक सऊदी अरब, मुत्तहदा अरब इमारात और बहरीन के दरमियान सिफ़ारती तात्तुल इमकान हैके अनक़रीब ख़त्म हो जाएगा।

क़तर और इस के तीन ख़लीजी तआवुन कौंसिल रुकन ममालिक सऊदी अरब, मुत्तहदा अरब इमारात और बहरीन के दरमियान सिफ़ारती तात्तुल इमकान हैके अनक़रीब ख़त्म हो जाएगा।

कुवैत के नायब वज़ीर-ए-आज़म अव्वल और वज़ीर-ए-ख़ारजा सऊदी अरब ने कहा कि तीनों ममालिक के सफ़ीर दोहा किसी भी लम्हा वापिस जा सकते हैं।

क़तर ख़बररसां इदारा की इत्तेला के बमूजब इस मसले पर ख़लीजी तआवुन कौंसिल के वुज़राए ख़ारिजा के मीटिंग में जो जेद्दाह में मुनाक़िद किया गया था तफ़सीली तबादला-ए-ख़्याल किया।

सफ़ीरों की वापसी के क़वाइद-ओ-शराइत से इत्तिफ़ाक़ किया गया। मीटिंग के बाद एक मशतका प्रेस कांफ्रेंस से ख़िताब करते हुए डॉ अब्दुह लतीफ़ अलज़यानी मोतमिद उमूमी ख़लीजी तआवुन कौंसिल शेख़ सबाह अलख़ालिद अलहम्द उल-सबाह, कुवैत के नायब वज़ीर-ए-आज़म अव्वल-ओ-वज़ीर-ए-ख़ारजा ने कहा कि ख़लीजी तआवुन कौंसिल ने एक निज़ाम क़ायम किया है ताके साबिक़ा रुकावटों को दूर किया जा सके। इस के नतीजे में सफ़ीरों की वापसी किसी भी लम्हा मुतवक़्क़े है।

TOPPOPULARRECENT