Tuesday , January 16 2018

सऊदी अरब की मस्जिदो में लाउडस्पीकर की तेज़ आवाज़े

सात साल पहले सऊदी अरब के इस्लामिक मामलो के मंत्रालय ने पांचो वक़्त की नमाज़ में लाउडस्पीकर को बैन कर दिया था जिसका कि काफी लोगो ने विरोध ये करते हुयें किया था कि ये नमाज़ के लिहाज़ से नकारत्मक फैसला है

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

लेकिन सरकार का फैसला कुरान के हिसाब से बिलकुल सही था कुरान की आयत इसरा में साफ़ साफ़ उल्लेख है कि नमाज ना तो बहुत ज्यादा आवाज़ से पड़नी चाहियें ना ही धीमी आवाज़ से अदा करना चाहिए लेकिन ज़्यादातर इमामो ने सरकार के इस फैसले का विरोध किया था

रमजान में हर साल मिनिस्टरी याद दिलाती है मस्जिद के बाहर कोई साउंड सिस्टम ना हो बल्कि साउंड सिस्टम मस्जिद के अंदर होना चाहिए सिर्फ अज़ान ,जुमा और ईद के लियें ही साउंड सिस्टम का उपयोग करना चाहियें लेकिन कई मस्जिदों ने सरकार के फरमान को इस बार भी नही माना लेकिन हुकुमत ने ऐसे इमामो के खिलाफ किसी भी तरह की कार्यवाही नही की जोकि सऊदी सरकार के विज़न 2030 के लियें किस प्रकार नियमो को लागु कर पायेगी .

आस पड़ोस के काफी लोगो को ज्यादा आवाज़ से परेशानी होती है लेकिन वो इमामो से या तो डरते है या कहने में हिचक महसूस करते है

नोट -सऊदी गजट में हाला अल कहतानी के आर्टिकल का हिंदी अनुवाद है

TOPPOPULARRECENT