Friday , November 24 2017
Home / Featured News / सऊदी अरब गया नौजवान दर-दर की ठोकर खाने पर मजबूर

सऊदी अरब गया नौजवान दर-दर की ठोकर खाने पर मजबूर

प्रतापगढ़: उत्तर प्रदेश में प्रतापगढ़ मान्धाता इलाक़े के उमय्या मठ गांव का एक नौजवान सऊदी अरब में अपने कफ़ील के ज़रीया शोषण के मामले में उसके परिजनों ने शनिवार को जिलाधिकारी से मुलाकात करके उसकी रिहाई की मांग की डी एम ने विदेश मंत्रालय में पत्र लिखने के सहयोग का आश्वासन दिया है।

जानकारी के मुताबिक राशिद अली 20 जुलाई 2013 को वीजा लेकर सऊदी अरब  रियाद के लिए रवाना हुआ था .. उसने फोन पर बताया कि जिस ड्राइवर के वीजा पर वह‌ था वहाँ उसने डेढ़ साल काम किया। लेकिन अनुबंध के अनुसार वेतन नहीं मिलने पर वहां से नौकरी छोड़ कर दूसरे कफिल‌ के पास काम करने चला गया।

सितंबर में घर जाने को राशिद ने कहा तो उसे नवंबर में जाने के लिए कहा गया लेकिन जब वह घर जाने के लिए तैयार हुआ तो कफील ने रोक दिया और अनुबंध पत्र जमा करा लिया ..उसे वेतन नहीं दिया गया बल्कि कार पर हुए जुर्माना कटौती वेतन से की गई और भारतीय दूतावास को गलत सूचना भेजी गई कि राशिद चार महीने से भागने भूक प्यास की शिद्दत सहकर दर दर ठोकर खाकर‌ घर पर मजबूर है।

वह देशवासियों के पास छुपा है। अगर अनुबंध पत्र पुलिस ने पकड़ लिया तो उसे जेल जाना पड़ सकता है। उसने सहयोग की मांग की।

TOPPOPULARRECENT