सऊदी अरब ने माना तुर्की स्थित सऊदी दूतावास में ही मारे गए ख़ाशोज्जी

सऊदी अरब ने माना तुर्की स्थित सऊदी दूतावास में ही मारे गए ख़ाशोज्जी
Click for full image

सऊदी अरब ने पत्रकार जमाल खशोगी के मारे जाने की पुष्टि कर दी है. समाचार एजेंसी AFP ने राज्य की मीडिया के हवाले से यह जानकारी दी है. सऊदी अरब ने इस बात की पुष्टि की है कि खशोगी, इस्तांबुल कॉन्सुलेट में मारे गए हैं.

समाचार एजेंसी AP के अनुसार सऊदी की मीडिया ने कहा है कि खशोगी की हत्या के मामले में 18 लोगों को बतौर संदिग्ध गिरफ्तार किया गया है. सऊदी मीडिया के मुताबिक खशोगी एक झगड़े के दौराम मारे गए.

 

बता दें पत्रकार खशोगी बीते कई दिनों से लापता थे. इस दौरान यह खबरें भी आईं कि उनकी हत्या कर दी गई है, हालांकि सऊदी इससे इनकार करता रहा. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने खशोगी की हत्या की आशंका पर कहा था कि ‘निःसन्देह रूप से दिख रहा है कि सऊदी के लेखक की मौत हो गई है, हम प्रण लेते हैं कि यदि सऊदी रॉयल इसके जिम्मेदार होंगे तो गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे.’

ट्रंप, सऊदी रॉयल्स को इस बात की चेतावनी दे चुके हैं अगर वह खशोगी की मौत के लिए जिम्मेदार पाए जाएंगे तो उनके ‘कड़ी सजा’ दी जाएगी.

गौरतलब है कि पत्रकार के तौर पर जमाल खाशोगी का काम सऊदी अरब में काफी विवादित रहा है. मोहम्मद बिन सलमान के क्राउन प्रिंस बनने के बाद उन्होंने स्वयं निर्वासन पर अमेरिका जाने का फैसला लिया था.

वाशिंगटन पोस्ट के लिए काम करते हुए खाशोगी ने कई मुद्दों पर सऊदी अरब की आलोचना की. इसमें यमन युद्ध, कनाडा के साथ हाल ही में हुआ राजनयिक मनमुटाव और ड्राइविंग के अधिकार के लिए आंदोलन करने वाली महिलाओं की गिरफ्तारी के लिए सऊदी की आलोचना करना शामिल है.

Top Stories