Monday , December 18 2017

सऊदी अरब में तलाक़ की शरह सब से कम

ख़लीज के ख़ित्ता सऊदी अरब में तलाक़ की शरह सब से कम है, 2010-में तलाक़ के 1295 मुआमले मुसालहत के ज़रीया हल कर दिए गए जबकि 2011 के आदाद-ओ-शुमार जलद अगले साल शाय कर दिए जाऐंगे। सऊदी विज़ारत इंसाफ़ ने अपने बयान में बताया कि ख़लीजी ममालिक की बनिस

ख़लीज के ख़ित्ता सऊदी अरब में तलाक़ की शरह सब से कम है, 2010-में तलाक़ के 1295 मुआमले मुसालहत के ज़रीया हल कर दिए गए जबकि 2011 के आदाद-ओ-शुमार जलद अगले साल शाय कर दिए जाऐंगे। सऊदी विज़ारत इंसाफ़ ने अपने बयान में बताया कि ख़लीजी ममालिक की बनिसबत सऊदी अरब में तलाक़की शरह इंतिहाई कम है।

तलाक़ के 60 फ़ीसद से ज़ाइद मुआमले विज़ारत के मुसालहती दफ़्तर में पेश किए गए जिन्हें ख़ुशउसलूबी से हल कर दिया गया। मुसालहती प्रोग्राम से परवरिश, अख़राजात और दीगर मुआमलात में भी कमी आई है।

TOPPOPULARRECENT