सऊदी अरब सहित सभी खाड़ी देशों के परमाणु कार्यक्रम को मजबूत करने में हम साथ हैं- ईरान

सऊदी अरब सहित सभी खाड़ी देशों के परमाणु कार्यक्रम को मजबूत करने में हम साथ हैं- ईरान

इस्लामी गणतंत्र ईरान की परमाणु ऊर्जा संस्था के प्रमुख डाक्टर अली अकबर सालेही ने कहा कि इस्लामी गणतंत्र ईरान सभी शांतिपूर्ण परमाणु क्षेत्रों में हर प्रकार की परियोजनाओं पर काम करने की क्षमता रखता है।

ईरान की परमाणु ऊर्जा संस्था के प्रमुख डाक्टर अली अकबर सालेही ने अलमयादीन टेलीवीजन चैनल से अपने साक्षात्कार में कहा कि ईरान सभी शांतिपूर्ण परमाणु क्षेत्रों में हर प्रकार की परियोजनओं पर काम कर सकता है।

उनका कहना था कि इसके सथ ही वह सऊदी अरब, संयुक्त अरब इमारात, कुवैत और इराक़ जैसे क्षेत्र के देशों के परमाणु वैज्ञानिकों के साथ अपने अनुभवों पर भी बात कर सकता है।

पार्स टुडे डॉट कॉम के अनुसार, ईरान की परमाणु ऊर्जा संस्था के प्रमुख ने कहा कि ईरान विभिन्न प्रकार के शोध रिएक्टर तैया करने की क्षमता रखता है और यदि कोई भी मुस्लिम देश अपील करेगा तो वह शोध रिएक्टर की तैयारी में उसकी मदद करने के लिए भी तैयार है।

उन्होंने कहा कि परमाणु क्षेत्र में ईरान के पास अपार अनुभव हैं और वह उन्हें इस्लामी देशों को भी स्थानांतरित करने के लिए तैयार हैं। डाक्टर अली अकबर सालेही ने ईरान के शांतिपूर्ण परमाणु कार्यक्रम के विरुद्ध दुश्मनों के निराधार दावों और इस मार्ग में उनके द्वारा खड़ी की जाने वाली रुकावटों का भी उल्लेख करते हुए कहा कि दुश्मन कभी भी नहीं चाहेंगे कि ईरान सहित मुस्लिम देश प्रगति करें।

उनका कहना था कि पश्चिमी देशों ने पिछले 40 वर्षों से अब तक ईरान के विकास और प्रगति का रास्ता रोकने की हर संभव कोशिश की है किन्तु वह कभी भी अपने लक्ष्य में सफल नहीं हो सके।

ईरान की परमाणु ऊर्जा संस्था के प्रमुख डाक्टर अली अकबर सालेही ने बल देकर कहा कि तेहरान ने परमाणु समझौते पर पूरी तरह से अमल किया है।

उनका कहना था कि यूरोपीय देशों को भी चाहिए कि वह भी ईरान की भांति परमाणु समझौते के बारे में अपने सभी वादों पर अमल करें। डाक्टर अली अकबर सालेही ने कहा कि यदि यूरोपीय देश इस संबंध में अपने सहयोग में असमंजस से काम लेंगे और विलंब के हथकंडे को अपनाएंगे तो उस स्थिति में ईरान के पास भी विभिन्न विकल्प मौजूद होंगे और वह उनमें से किसी को भी अपना सकता है।

Top Stories