Saturday , December 16 2017

सऊदी अरब से बेरोज़गार मुल्क लौट आएं, बक़ाया पैसे मिलने में वक़्त लगेगा : सुषमा स्वराज

दिल्ली : भारत सरकार ने सऊदी अरब में बेरोजगार भारतीय नागरिकों को सुझाव दिया है कि बक़ाया वेतन पाने का इंतेज़ार किए बिना स्वदेश लौट आएं जिससे लगता है कि इन नागरिकों को बक़ाया वेतन दिलाने के लिए बातचीत में प्रगति नहीं हो पायी है। भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने प्रभावित भारतीय नागरिकों तक अपनी बात पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया ट्वीटर का सहारा लिया और उनसे, अनिश्चित काल तक इंतेज़ार न करने का सुझाव देते हुए, स्वदेश लौटने को कहा।

उन्होंने ट्वीट किया, “जब सऊदी सरकार बंद हो चुकी कंपनियों का क़र्ज़ अदा करेगी तो आपको भी बक़ाया राशि दी जाएगी।” मंत्री स्तर पर यह एलान इस बात का पहला चिन्ह है कि सऊदी अरब में 3 बड़ी कंस्ट्रक्शन कंपनियों के बंद होने के बाद बेरोज़गार हुए 3172 कर्मचारियों को तंख्वाह और बक़ाया रकम दिलाने के लिए जनरल वीके सिंह की अगुवाई में की गयी कूटनैतिक कोशिश का, कोई नतीजा नहीं निकल सका है।

भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर कहा, “सऊदी अरब में भारतीय कर्मचारी मेहरबानी कर अपना दावा दायर कीजिए और वतन लौट आइये। हम आपको मुफ़्त में वतन वापस लाएंगे। कृपया इस बात को समझें कि मुआवज़ा मिलने में वक़्त लगेगा। इसलिए अनिश्चित काल तक इंतेज़ार करने का कोई मतलब नहीं।” यह ऐलान ऐसे समय हुआ कि वी के सिंह भारतीय नागरिकों को बक़ाया राशि दिलाने की कोशिश के लिए सऊदी अरब में थे।

मालूम रहे सऊदी अरब में बेरोज़गार भारतीयों का मुद्दा 30 जुलाई 2016 को उस समय प्रकाश में आया, जब भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अपने ट्वीटर अकाउंट के ज़रिए सूचित किया कि सऊदी अरब में 10000 भारतीय नागरिकों को खाने के संकट का सामना है क्योंकि उन्हें महीनों से तन्ख़वाह नहीं मिली है।

TOPPOPULARRECENT