सऊदी अरमको का पोर्ट आर्थर रिफाइनरी पर पूर्ण नियंत्रण

सऊदी अरमको का पोर्ट आर्थर रिफाइनरी पर पूर्ण नियंत्रण
Click for full image

ऑस्टिन। सऊदी अरब के स्वामित्व वाली सऊदी अरमको कम्पनी ने सोमवार को टेक्सास स्थित पोर्ट आर्थर रिफाइनरी को पूर्ण रूप से नियंत्रण कर लिया, जिसके सौदे की पिछले वर्ष घोषणा की थी।

 

 

 

 

पोर्ट आर्थर अमेरिकी रिफाइनरी को अहम् माना जाता है और वह प्रतिदिन 600,000 बैरल तेल संसाधित कर सकती है, जो उत्तरी अमेरिका में सबसे बड़ी रिफाइनरी है।

 

 

 

 

अरमको पहले रॉयल डच शेल (आरडीएसए) के सह-स्वामित्व वाली एक संयुक्त उद्यम के रूप में पोर्ट आर्थर का 50 प्रतिशत हिस्से वाली स्वामित्व एंटरप्राइजेज कहलाती थी। दो तेल दिग्गजों का एक मजबूत रिश्ता था और मार्च 2016 में उनकी संपत्तियों को अलग करने के लिए एक समझौता हुआ था।

 

 

 

 

शैल ने सोमवार को एक बयान जारी कर उस ब्रेक-अप की समाप्ति की पुष्टि की है। पोर्ट आर्थर के अलावा अरमको 24 वितरण टर्मिनलों का पूर्ण स्वामित्व प्राप्त कर रहा है। अरमको को जॉर्जिया, उत्तरी कैरोलिना, दक्षिण कैरोलिना, वर्जीनिया, मैरीलैंड, टेक्सास के पूर्वी हिस्से और फ्लोरिडा के अधिकांश हिस्से में शेल-ब्रांडेड गैसोलीन और डीजल बेचने का विशेष अधिकार प्राप्त है।

 

 

सऊदी अरब कनाडा के बाद कच्चे तेल का दूसरा सबसे बड़ा स्रोत है। ऊर्जा सूचना प्रशासन के मुताबिक अमेरिका ने फरवरी में 1.3 मिलियन बैरल सऊदी कच्चे तेल का निर्यात किया था, जो कि पिछले साल 32 प्रतिशत अधिक था।

Top Stories