सऊदी जेलों में कैदियों से सबसे अच्छा व्यवहार होता है, जो दुनिया के लिए मिसाल है: संयुक्त राष्ट्र प्रतिनिधि

सऊदी जेलों में कैदियों से सबसे अच्छा व्यवहार होता है, जो दुनिया के लिए मिसाल है: संयुक्त राष्ट्र प्रतिनिधि
Click for full image
Ben Emmerson, U.N. special investigator on counter-terrorism and human rights, holds a news conference on migration policies, Friday, Oct. 21, 2016, at U.N. headquarters. Emmerson accused Republican presidential nominee Donald Trump on Friday of peddling "lies and xenophobia" by claiming a link between Syrian refugees and Islamic State extremists. (AP Photo/Bebeto Matthews)

रियाद: संयुक्त राष्ट्र के विशेष मानवाधिकार प्रतिनिधि व एंटी आतंकवाद बिन इमर्सन ने कहा है कि सऊदी अरब में आतंकवाद के आरोप में गिरफ्तार किए गए व्यक्तियों और सज़ा पाने वाले अपराधियों से जेलों में अच्छा व्यवहार किया जा रहा है. उन्हें जेलों में बेहतर स्थिति में रखा जा रहा है और यह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक उदाहरण है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अल अरबिया डॉट नेट के अनुसार बिन एमर्सन ने हाल ही में सऊदी अरब का दौरा किया जहां उन्होंने सऊदी अधिकारियों से मुलाकात की और उनसे आतंकवाद से निपटने के प्रयासों को लेकर विमर्श किया. उन्होंने अपने दौरे में सऊदी जेलों के स्थिति की समीक्षा की है और वहाँ हो रहे मानव अधिकारों के सम्मान को सराहा है।
उन्होंने मोहम्मद बिन नायफ कोंस्लिंग और केयर सेंटर में सज़ा पाने वाले आतंकवादियों के पुनर्वास के लिए उपायों की सराहना की। इस केंद्र में सज़ा पाने वाले आतंकवादियों को इंसानी और मनोवैज्ञानिक सहायता प्रदान की जाती है, उन्हें कला चिकित्सा से गुजारा जाता है और इस प्रक्रिया में उनके परिवारों को भी शामिल किया जाता है।
बिन इमर्सन ने कहा कि इस केंद्र का काम प्रचलित मानकों के अनुसार है और यह एक रोल मॉडल की हैसियत रखता है. उन्होंने अरब के जांच आयोग, जनरल अभियोजन, गृह मंत्रालय और न्याय के संबंधित अधिकारियों के साफगोई की सराहना की है जो जेरे हिरासत व्यक्तियों के मामलों के सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हैं।

Top Stories