Monday , December 18 2017

सऊदी सलामती को ख़तरा हुआ तो पाकिस्तान भरपूर जवाब देगा

सऊदी अरब के वज़ीरे दिफ़ा और नायब वली अहद शहज़ादा मुहम्मद बिन सलमान ख़ुसूसी दौरे पर पाकिस्तान पहुंचे, जहां उन्होंने आर्मी चीफ़ जनरल राहील शरीफ़ और वज़ीरे आज़म नवाज़ शरीफ़ से अलग अलग मुलाक़ातें कीं।

मुहम्मद बिन सुल्तान का दौरा-ए-पाकिस्तान 34 रुक्नी अरब फ़ौजी इत्तिहाद के क़ियाम और हालिया सऊदीया-ईरान कशीदगी में ख़ासी अहमीयत का हामिल है। मुहम्मद बिन सलमान की पाकिस्तान आमद पर इस्लामाबाद आवर पोर्ट पर पाकिस्तान केवज़ीरे दिफ़ा ख़्वाजा आसिफ़ और मुशीर उमूर ख़ारिजा सरताज अज़ीज़ ने उनकाइस्तिक़बाल किया।

मुहम्मद बिन सलमान और वज़ीरे आज़म के दरमयान मुलाक़ात में दो तरफ़ा ताल्लुक़ात और खित्ते की सूरतेहाल पर तबादले ख़्याल किया गया। नवाज़ शरीफ़ का कहना है कि सऊदी अरब और ईरान कशीदगी में कमी के लिए इस्लामी ममालिक को अपना किरदार अदा करना चाहीए।

क़ब्लअज़ीं शहज़ादा मुहम्मद बिन सलमान ने आर्मी चीफ़ जनरल राहील शरीफ़ से मुलाक़ात की। उस मौक़ा पर जनरल राहील शरीफ़ ने वाज़ेह किया है कि पाकिस्तान सऊदी अरब के साथ दिफ़ाई ताल्लुक़ात को बड़ी अहमीयत देता है और इस की इलाक़ाई सालमीयत और ख़ुदमुख़तारी को अगर कोई ख़तरा हुआ तो पाकिस्तान उस का भरपूर जवाब देगा।

शहज़ादा मुहम्मद बिन सलमान ने इतवार के रोज़ जनरल हेड क्वाटर्स (जी एच क्यू) रावलपिंडी में उनसे मुलाक़ात की और उनसे इलाक़ाई सलामती और दिफ़ाई शोबे में तआवुन के हवाले से तबादले ख़्याल किया।

TOPPOPULARRECENT