Tuesday , July 17 2018

सचिन ने राज्यसभा सांसद के तौर पर वेतन में मिले करीब 90 लाख रुपये को दान किया

क्रिकेट के मैदान पर अपने बल्ले से विपक्षी टीमों को जवाब देने के लिए मशहूर सचिन तेंदुलकर ने संसद की पिच पर भी आलोचकों को अपने ही अंदाज में जवाब दिया है। उन्होंने पिछले छह साल में राज्यसभा सांसद के तौर पर वेतन और भत्ते में मिले करीब 90 लाख रुपये प्रधानमंत्री राहत कोष में दान कर दिए। उनका कार्यकाल 26 अप्रैल को खत्म हो रहा है। हाल में उन्हें अन्य रिटायर हो रहे सांसदों के साथ औपचारिक विदाई दी गई।

26 अप्रैल को रिटायर हो रहे हैं तेंदुलकर 

भारत रत्न से सम्मानित सचिन को 26 अप्रैल 2012 को राज्यसभा सांसद मनोनीत किया गया था। वह राज्यसभा पहुंचने वाले पहले सक्रिय खिलाड़ी और क्रिकेटर थे। उन्होंने 2013 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लिया था। बतौर सांसद उन्हें कांग्रेस नेता राहुल गांधी के पड़ोस में बंगला आवंटित किया गया था लेकिन उन्होंने लेने से इनकार कर दिया था।

हालांकि राज्यसभा में बेहद कम हाजिरी को लेकर उन्हें मीडिया और साथी सांसदों की कई बार आलोचना भी झेलनी पड़ी। कुछ माह पहले सचिन सदन में राइट टू प्ले पर अपनी बात रखने के लिए खड़े हुए लेकिन हंगामे के चलते अपनी बात नहीं रख सके थे।

पीएम मोदी ने जताया आभार

प्रधानमंत्री कार्यालय ने सचिन के इस कार्य के लिए आभार पत्र जारी किया है। इसमें लिखा है कि प्रधानमंत्री ने इस सहृदयता के लिए आभार व्यक्त किया है। यह योगदान संकटग्रस्त लोगों को सहायता पहुंचाने में बहुत मददगार होगा।

TOPPOPULARRECENT