Wednesday , December 13 2017

सच्चर कमेटी की सिफ़ारिशात पर अमल करने का मुतालिबा

कामा रेड्डी। मश्हुर‌ अफ़्साना लेखक और सदर अंजुमन तरक़्क़ी उर्दू जनाब रहीम अनवर ने अपने एक सहाफ़ती ब्यान में कहा कि हाईकोर्ट की तरफ‌ से हुकूमत के अक़ल्लीयतों(अल्पसंख्यकों) को दुसरे पिछ्डे लोगों केलिए खास‌ कोटे में से 4.5फ़ीसद खास‌ क

कामा रेड्डी। मश्हुर‌ अफ़्साना लेखक और सदर अंजुमन तरक़्क़ी उर्दू जनाब रहीम अनवर ने अपने एक सहाफ़ती ब्यान में कहा कि हाईकोर्ट की तरफ‌ से हुकूमत के अक़ल्लीयतों(अल्पसंख्यकों) को दुसरे पिछ्डे लोगों केलिए खास‌ कोटे में से 4.5फ़ीसद खास‌ कोटा देने के फ़ैसले को रद कर‌ देने के बाद इस ज़िमन में केन्द्रीय क़ानून मंत्री जनाब सलमान ख़ुरशीद ने कहा कि इस मसले को लेकर हुकूमत सुप्रीम कोर्ट से रुजू होगी, ये एक बहुत अच्छी बात है।

जिस से वो स्टुडंट जो आई आई टी के लिए कौंसलिंग करना चाहते हैं उन्हें राहत मिली है और सच्चर कमेटी की सिफ़ारिशात को पेशे नज़र रखते हुए मुस्लिम आबादी वाले पुलिस स्टेशनों में मुस्लिम इन्सपेक्टर का भरती भी मुस‌लमानों में एतिमाद पैदा करेगी । बशर्तिके इस पर असर दायक‌ अमल कीया जाये।

जनाब रहीम अनवर ने मर्कज़ी हुकूमत से मुतालिबा किया कि सच्चर कमेटी की रिपोर्ट ने जो भी तजवीजें पेश की हैं उन पर अमल को यक़ीनी बनाया जाये ताकि मुस्लिम तबक़ा भी मुल्क में ख़ुशहाल ज़िंदगी गुज़ार सके और उन की मआशी और तालीमी पिछ्डापन‌ दूर होसके।

TOPPOPULARRECENT