Friday , December 15 2017

सज़ाए मौत पर अमल दरामद में एहतियात लाज़िम

अमरीकी महकमा खारजा की क़ाइम मक़ाम ख़ातून तर्जुमान, मेरी हार्फ़ ने कहा है कि अमरीका सन 1971 में बंगलादेश की जंग आज़ादी के दौरान सरज़द होने वाले मज़ालिम के मुआमले पर, इंसाफ़ के तक़ाज़े पूरे किए जाने का हामी है।

अमरीकी महकमा खारजा की क़ाइम मक़ाम ख़ातून तर्जुमान, मेरी हार्फ़ ने कहा है कि अमरीका सन 1971 में बंगलादेश की जंग आज़ादी के दौरान सरज़द होने वाले मज़ालिम के मुआमले पर, इंसाफ़ के तक़ाज़े पूरे किए जाने का हामी है।

ताहम हफ़्ते को जारी होने वाले एक अख़बारी ब्यान में, तर्जुमान ने कहा है कि, ऐसा करते हुए, इंटरनेशनल क्राइम्ज़ ट्रिब्यूनल (आई सी टी) के मुक़द्दमात को मुंसिफ़ाना और शफ़्फ़ाफ़ तरीक़े से चलाया जाना चाहीए, जो बैनुल अक़वामी मुआहिदों और ज़मानतों से मुताबिक़त रखता हो।

जिन पर बंगलादेश ने दस्तख़त किए हुए हैं, और जिन का ताल्लुक़ बैनुल अक़वामी समझौतों से है, जिन में बैनुल अक़वामी नज़ीर, मुआहिदे और शहरी और सियासी हुक़ूक़ से मुताल्लिक़ ज़वाबत और इकरार नामे शामिल हैं।

TOPPOPULARRECENT