सतलज राहत की ग़ज़ल, “जब हिंदुस्तान बाँटा जा रहा था”

सतलज राहत की ग़ज़ल, “जब हिंदुस्तान बाँटा जा रहा था”
Click for full image

सभी को ज्ञान बाँटा जा रहा था
जब हिंदुस्तान बाँटा जा रहा था

हमें ये मंदिरों मस्जिद दिखा कर
हमारा ध्यान बाँटा जा रहा था

सुख़नवर चापलूसी कर रहे थे
उन्हें सम्मान बाँटा जा रहा था

(सतलज राहत)

Top Stories