Saturday , November 18 2017
Home / India / सत्ता में आते किसानों के कर्ज माफ़ करने में जुटे कैप्टेन और यूपी में मुद्दा भाषणों से भी गायब

सत्ता में आते किसानों के कर्ज माफ़ करने में जुटे कैप्टेन और यूपी में मुद्दा भाषणों से भी गायब

नई दिल्ली: पंजाब में चुनाव प्रचार के दौरान कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने किसानों का कर्ज माफ़ करने का वादा किया था। जिसके चलते उनकी सरकार ने अपने शासन संभालने के दस दिनों से भी कम वक़्त में ही किसानों का कर्ज समयबद्ध ढंग से माफ करने के लिए पहल कर चुकी है। कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने कहा कि कांग्रेस न केवल पंजाब में बल्कि देशभर में किसानों का कर्ज माफ करने के लिए वचनबद्ध है।

अगर केंद्र सरकार देशभर के कर्ज के तले जी रहे किसानों को बाहर करने के लिए आवश्यक कदम उठाए, तो उनको बहुत खुशी होगी। लेकिन अगर केंद्र सरकार पंजाब के किसानों का कर्ज माफ करने में हमारा साथ नहीं भी देगी तो राज्य सरकार खुद किसानों का कर्ज माफ कर यह कर्ज चुकाएगी। लेकिन पंजाब के किसानों का कर्ज जरूर माफ किया जाएगा।
दूसरी तरफ देखा जाये तो बीजेपी ने यूपी में चुनाव प्रचार के किए गए वादों में एक ये वादा भी किया था कि अगर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनती है तो वह एक दिन के अंदर ही यूपी के किसानों का कर्ज माफ़ कर देगी। अब प्रदेश में योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बन चुके हैं और उन्होंने यूपी के लिए काम भी करना शुरू कर दिया है।

उन्होंने सरकारी दफ्तरों में पान, गुटखा, तम्बाकू खाने पर पाबंदी लगा दी है। अवैध बूचड़खानों को बंद कर दिया गया है जिसके चलते इस व्यवसाय के जरिये रोजी-रोटी कमाने वाले आज बेरोजगार हो गए हैं। एंटी रोमियो स्क्वाड सुरक्षा के नाम पर प्रदेश में गुंडागर्दी करने पर उतारू है। लेकिन अब तक किसानों के कर्ज माफ़ करने का कोई नाम नहीं लिया गया। एंटी रोमियो स्क्वाड और बूचड़खानों को बंद करने के नाम पर लोगों का ध्यान इस मुद्दे से ध्यान भटकाना चाहती है और असल में अपने इस मुद्दे को यूं ही टालने की कोशिशों में है।

 

TOPPOPULARRECENT