सदर अफ़्ग़ानिस्तान से तालिबान रहनुमा की हवालगी का पाकिस्तानी मुतालिबा

सदर अफ़्ग़ानिस्तान से तालिबान रहनुमा की हवालगी का पाकिस्तानी मुतालिबा
मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला पाकिस्तान रहमान मलिक ने सदर अफ़्ग़ानिस्तान हामिद करज़ई से ये मुतालिबा करते हुए कि वो फ़ज़लुल्लाह समेत दीगर रोपोश तालिबान रहनुमा पाकिस्तान के हवाले करदे, कहा कि हकीम उल्लाह महसूद जब तक एहसान उल्लाह हस्सा

मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला पाकिस्तान रहमान मलिक ने सदर अफ़्ग़ानिस्तान हामिद करज़ई से ये मुतालिबा करते हुए कि वो फ़ज़लुल्लाह समेत दीगर रोपोश तालिबान रहनुमा पाकिस्तान के हवाले करदे, कहा कि हकीम उल्लाह महसूद जब तक एहसान उल्लाह हस्सान को अपना नुमाइंदा तस्लीम नहीं करते उन के हर वादे को मुस्तर्द कर दिया जाएगा।

उन्हों ने कहा कि दहश्तगर्दी में बैरूनी हाथ मुलव्वस नहीं बल्कि पाकिस्तानीयों के मुलव्वस होने की इत्तिला मिली है। उन्हों ने कहा कि जितनी भी अंदरून-ए-मुल्क दहश्तगर्दी की कार्यवाइयां हो रही हैं इस में कोई बैरूनी हाथ मुलव्वस नहीं है। पाकिस्तानी अफ़राद ही इस में मुलव्वस हैं। कोई बैरूनी आदमी नहीं है।

Top Stories