Wednesday , December 13 2017

सदर चीन के ख़िलाफ़ ख़ुद सोज़ी करने वाला तिब्बती बाशिंदा फ़ौत

एक तिब्बती नौजवान जिस ने चीन के सदर होजिन ताओ के मुजव्वज़ा दौरा हिंद के ख़िलाफ़ एहतिजाज करते हुए ख़ुद सोज़ी कर ली थी । आज सुबह एक ख़ानगी हॉस्पिटल में जांबर ना हो सका। 36साला जाम यांग इशी को शदीद झुलसी हुई हालत में राम मनोहर लोहीया हॉस्पिट

एक तिब्बती नौजवान जिस ने चीन के सदर होजिन ताओ के मुजव्वज़ा दौरा हिंद के ख़िलाफ़ एहतिजाज करते हुए ख़ुद सोज़ी कर ली थी । आज सुबह एक ख़ानगी हॉस्पिटल में जांबर ना हो सका। 36साला जाम यांग इशी को शदीद झुलसी हुई हालत में राम मनोहर लोहीया हॉस्पिटल में शरीक किया गया था जहां के डाक्टर एल के मखीजा ने कहा कि वो इस नौजवान का ईलाज कर रहे थे जो आज सुबह 7.30मिनट पर फ़ौत हो गया ।

येशी (Jamphel Yeshi) ने होजिन ताओ के मुजव्वज़ा दौरा हिंद के ख़िलाफ़ जंतर मंतर पर तिब्बती बाशिंदों के एहतिजाज के दौरान ख़ुद सोज़ी कर ली थी । वाज़िह रहे कि तिब्बत की आज़ादी का मुतालिबा करते हुए हालिया अर्से के दौरान कम से कम 30तिब्बती बाशिंदों ने जिन में बुत राहिब और रहबाईं शामिल हैं ख़ुद सोज़ी कर ली थी ।

लेकिन येशी (Jamphel Yeshi) वो पहला तिब्बती नौजवान है जिसने अपने वतन की आज़ादी का मुतालिबा करते हुए हिंदूस्तान में ख़ुद सोज़ी की है।
इशी 2006 के दौरान तिब्बत से हिंदूस्तान पहुंचा था और गुज़श्ता 6 साल से नई दिल्ली में मुक़ीम था ।

TOPPOPULARRECENT