Tuesday , December 12 2017

सदर जमहूरीया का ख़िताब बे सिम्त: बी जे पी

बी जे पी ने आज पार्लीमेंट के मुशतर्का इजलास से सदर जमहूरीया प्रतिभा पाटिल के ख़िताब को बे कैफ़ क़रार देते हुए कहा कि इसमें ना कोई नई सिम्त है और ना ही वफ़ाक़ीयत को दरपेश चैलेंजों के ताल्लुक़ से कोई तज़किरा है। बी जे पी तर्जुमान प्रकाश जावड

बी जे पी ने आज पार्लीमेंट के मुशतर्का इजलास से सदर जमहूरीया प्रतिभा पाटिल के ख़िताब को बे कैफ़ क़रार देते हुए कहा कि इसमें ना कोई नई सिम्त है और ना ही वफ़ाक़ीयत को दरपेश चैलेंजों के ताल्लुक़ से कोई तज़किरा है। बी जे पी तर्जुमान प्रकाश जावडेकर ने पार्लीमेंट के बाहर अख़बारी नुमाइंदों को बताया कि ये तक़रीर बे कैफ़ है क्योंकि कोई नई सिम्त नहीं है।

ये हुकूमत की तैयार कर्दा है। ये महिज़ एक फ़हरिस्त है कि अब तक कुछ किया गया है जो नाकाफ़ी है। इसमें ये नहीं बताया गया कि रियास्तों के कई हुकूमत का रवैय्या क्या है। उन्होंने इस्तेदलाल पेश किया कि मर्कज़ी हुकूमत रियास्तों से मुशावरत किए बगै़र मुख़्तलिफ़ क़वानीन के ज़रीया उन के इख़्तेयारात सल्ब कर रही है।

जावडेकर ने कहा कि जहां सदर जमहूरीया क़ौमी इन्सेदाद-ए-दहशतगर्दी मर्कज़ की ताईद की, वहीं वो जिस तरह के इक़दामात पर रियास्तों की मुख़ालिफ़त का तज़किरा करने से क़ासिर रही।

बी जे पी तर्जुमान ने कहा कि ये बिलकुल्लिया ग़ैर मुतास्सिरकूण तक़रीर है। चाहे एन सी टी सी का मसला हो या आर पी एफ़, फ़िर्कावाराना तशद्दुद बिल या एच आर डी मिनिस्ट्री के मुख़्तलिफ़ बिलों का मसला हो रियास्तों को एतिमाद में नहीं लिया गया है। ये तर्ज़-ए-अमल वफ़ाक़ी ढांचा पर हमला है और सदर जमहूरीया के ख़िताब में इस का कोई तज़किरा नहीं है।

TOPPOPULARRECENT