Monday , July 23 2018

सदर बी जे पी की आर एस एस सरबराह से मुलाक़ात

नई दिल्ली: बी जे पी सदर अमित शाह ने बिहार असेम्बली इंतेख़ाबात में पार्टी की बदतरीन शिकस्त के बाद आज आर एस एस सरबराह मोहन भागवत से मुलाक़ात की जबकि पार्टी के एक गोशा का ये तास्सुर है कि इंतेख़ाबात में शिकस्त की एक वजह तहफ़्फुज़ात पर मोहन भागवत का बेजा तबसेरा है जिनके तहफ़्फुज़ात पर नज़रेसानी के मश्वरे से बिहार में दलितों में नाराज़गी पैदा हो गई थी।

बावर किया जाता है कि अमित शाह ने इस मुलाक़ात में बिहार के नताइज और दीगर मसाइल पर ख़्याल किया है। पार्टी ज़राए ने बताया कि जब भी आला क़ाइदीन दिल्ली में रहते हैं आर एस एस सरबराह से रस्मी मुलाक़ात करते हैं ताहम आज की ये मुलाक़ात बिहार नताइज के पेशे नज़र अहमियत इख़तियार कर गई है।

बिहार असेम्बली के मरहला वार इंतेख़ाबात के दौरान आर एस एस सरबराह ने अचानक तहफ़्फुज़ात पॉलीसी पर नज़रेसानी का मश्वरा दिया था। उनके इस मुतनाज़ा बयान को अज़ीम इत्तेहाद के लीडरों ने इंतेख़ाबी मुहिम के दौरान दलितों को मुश्तइल करने के लिए इस्तिमाल किया था, जिसके बाइस बी जे पी के इमकानात मुतास्सिर हुए।

इंतेख़ाबी शिकस्त के बाद बी जे पी के बाज़ क़ाइदीन बिशमोल सीनियर रुकन पार्लियामेंट हुक्म देव नारायण यादव ने बताया कि पार्टी की शिकस्त के लिए आर एस एस सरबराह का मुतनाज़ा बयान ज़िम्मेदार है। बी जे पी पार्लीमानी पार्टी का इजलास तलब किया गया है जिस में दिल्ली असेम्बली अनतख़ाबा के बाद बिहार में दूसरी शिकस्त की वजूहात का जायज़ा लिया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT