Thursday , December 14 2017

सदर योर गवाए की तनखाह का 90 फ़ीसद हिस्सा ख़ैराती कामों के लिए वक़्फ़

एक तरफ़ दुनिया ऐसे हुकमरानों से भरी पड़ी है कि जो अपनी आमदनी को छिपाने और तमाम तर सरकारी मुराआत के बावजूद हमा वक़त इस में इज़ाफे़ के लिए कोशां नज़र आते हैं।

एक तरफ़ दुनिया ऐसे हुकमरानों से भरी पड़ी है कि जो अपनी आमदनी को छिपाने और तमाम तर सरकारी मुराआत के बावजूद हमा वक़त इस में इज़ाफे़ के लिए कोशां नज़र आते हैं।

दूसरी जानिब योर गवाए के सदर ख़ोज़े मोजीका ने अपनी तनख़्वाह का 90 फ़ीसद हिस्सा ख़ैराती कामों में सर्फ(खर्च) कर के दुनिया के फ़क़ीर मगर सब से ज़्यादा सखी(दानी) सदर होने का एज़ाज़ हासिल किया है।

76 साला मोजीका मार्च 2010-से मंसब सदारत सँभालने के बाद अपनी अहलिया सैंटर लूसिया टोबोलानसकी के हमराह एक कच्चे मकान में रिहायश पज़ीर हैं। इमारात से शाये होने वाले रोज़नामा उलब्यान के मुताबिक़ लूसिया भी अपने पारलीमानी एज़ाज़ीए का बड़ा हिस्सा ख़ैरात कर देती हैं।

मोजीका ने हाल ही में एक इंटरव्यू में इन्किशाफ़ किया कि इन के पास क़ीमती चिज फ़ोकस वैगन है, जिस की मालियत 1945 अमरीकी डॉलरज़ है। उन्हों ने बताया कि बतौर सदर उन्हें माहाना 12,500 डॉलरज़ मुशाहिरा मिलता है लेकिन वो अपनी गुज़र औक़ात के लिए सिर्फ 1250 डालर निकाल कर बाक़ी रक़म मुख़्तलिफ़ ख़ैराती अंजुमनों को देते हैं।

इन का कहना है कि 1250 डालर उन के लिए बाइज़्ज़त ज़िंदगी गुज़ारने के लिए काफ़ी हैं, हालाँकि बहुत से लोग इस से भी इंतिहाई कम आमदनी पर गुज़ारा कर रहे हैं। ये अमर दिलचस्पी से ख़ाली नहीं कि मोजीका का ना कोई बैंक एकाऊंट है और ना ही उन्होंने किसी का क़र्ज़ा देना है।

TOPPOPULARRECENT