Monday , August 20 2018

सद्दाम हुसैन का शव कब्र से निकाल कर बेटी लेकर चली गई जॉर्डन!

दुनिया के बड़े तानाशाहों में से एक सद्दाम हुसैन का शव उनकी मौत के 12 साल बाद कब्र के अंदर से गायब हो गया है। 2006 में मौत के बाद सद्दाम हुसैन के शब को तिकरित के नजदीक नके पैतृक गांव अल-अवजा में दफनाया गया था। लेकिन अब उनका शव कब्र के अंदर से गायब हो गया है।

बताया जा रहा है कि उनकी कब्र अब सिर्फ टूटे-फूटे कंक्रीट का ढेर बनकर रह गई है और उसके अंदर से उनके शव के अवशेष गायब हैं। गौरतलब है कि फांसी के बाद सद्दाम के शव को उनके गांव अल-अवजा में दफनाया गया था, लेकिन अब वहां कंक्रीट के टूट-फूटे टुकड़ों के अलावा कुछ भी नहीं बचा है। सद्दाम को 30 दिसम्बर, 2006 को फांसी पर लटकाया गया था।

आपको बता दें कि सद्दाम को फांसी देने के बाद अमरीका के तत्कालीन राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू. बुश ने खुद उनके शव को अमरीकी मिलिट्री हैलीकॉप्टर के जरिए रवाना किया था। इसके बाद अल-अवजा में सद्दाम को दफना दिया गया था।

बाद में यह जगह एक तीर्थस्थल के रूप में बदल गई और सद्दाम समर्थक 28 अप्रैल को उनके जन्मदिन के मौके पर उनकी कब्र पर इकट्ठा होते थे। हालांकि अब यहां पहुंचने के लिए अनुमति लेनी पड़ती है।

सद्दाम के कब्र और उसके आसपास के इलाकों की सुरक्षा की जिम्मेदारी मुख्यतः शिया अर्द्धसैनिक बलों के पास है। उन्होंने कहा कि कब्र के ऊपर इस्लामिक स्टेट ने अपने स्नाइपर तैनात कर दिए थे, जिसके बाद इराक ने वहां हवाई हमले किए और वो जगह तबाह हो गई।

जिस वक्त यह धमाका हुआ शेख निदा वहां मौजूद नहीं थे, लेकिन उन्हें यकीन है कि सद्दाम के मकबरे को खोला गया और फिर उसे जलाया गया।

वहीं दूसरी ओर सुरक्षा प्रमुख का कहना है कि सद्दाम का शव अभी भी वहीं है, जबकि एक लड़ाके का अनुमान है कि सद्दाम की बेटी हाला जो कि अब निर्वासित है, एक निजी विमान से इराक आई थी और अपने पिता के शव को लेकर जॉर्डन चली गई।

TOPPOPULARRECENT