Wednesday , September 26 2018

सनाउल्लाह के अरकान ख़ानदान से उमर अबदुल्लाह की माज़रत ख़्वाही

श्रीनगर, 10 मई: ( पी टी आई) वज़ीर-ए-आला जम्मू-ओ-कश्मीर उमर अबदुल्लाह ने पाकिस्तानी क़ैदी सनाउल्लाह के अरकान ख़ानदान के साथ तहे दिल से माज़रत ख़्वाही की है । सनाउल्लाह चंडीगढ़ के एक दवाखाने में दौरान-ए-इलाज ज़ख़्मों से जांबर ना हो सका ।

श्रीनगर, 10 मई: ( पी टी आई) वज़ीर-ए-आला जम्मू-ओ-कश्मीर उमर अबदुल्लाह ने पाकिस्तानी क़ैदी सनाउल्लाह के अरकान ख़ानदान के साथ तहे दिल से माज़रत ख़्वाही की है । सनाउल्लाह चंडीगढ़ के एक दवाखाने में दौरान-ए-इलाज ज़ख़्मों से जांबर ना हो सका ।

अपने ट्वीटर पर तहरीर करते हुए उन्होंने कहा कि ये इज़हार ए ताज़ियत कुछ अजीब सूरत-ए-हाल के दौरान देने पर मजबूर हूँ लेकिन क्या किया जाये मरने वालों के अरकान ख़ानदान के साथ पुरसा देते हुए इज़हार ताज़ियत तो किया ही जाता है ।

याद रहे कि 52साला पाकिस्तानी क़ैदी सनाउल्लाह जम्मू की एक जेल में उम्र क़ैद की सज़ा काट रहा था । गुज़शता जुमा को सरबजीत की मौत के रद्द-ए-अमल के तौर पर इस पर जेल के दीगर ( दूसरे) क़ैदीयों ने हमला कर के शदीद तौर पर ज़ख़्मी कर दिया था । पोस्ट ग्रेजूएट इंस्टीटियूट आफ़ मेडीकल एजूकेशन ऐंड रिसर्च (PGIMER) में दौरान-ए-इलाज सनाउल्लाह जांबर ना हो सका । रियासती हुकूमत ने इस वाक़िया की तहक़ीक़ात का हुक्म दिया है ।

TOPPOPULARRECENT