सपा- बसपा गठबंधन: 2019 लोकसभा चुनाव में क्या बीजेपी हार जायेगी?

सपा- बसपा गठबंधन: 2019 लोकसभा चुनाव में क्या बीजेपी हार जायेगी?

आगामी लोकसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (BJP) को हराने के लिए उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी (BSP) और समाजवादी पार्टी (SP) ने गठबंधन का फैसला किया है और शनिवार को दोनो दल सीटों के बटवारे की घोषणा कर देंगे। लेकिन क्या दोनो दल मिलकर भी राज्य में भारतीय जनता पार्टी को हरा पाएंगे।

इस सवाल का जवाब जानने के लिए हमने 2014 में हुए लोकसभा चुनावों के वोटों का हिसाब लगाया, इंडिया टीवी को जो आंकड़े मिले वे काफी चौंकाने वाले हैं। 2014 में BSP और SP ने अलग-अलग चुनाव लड़ा था, लेकिन उत्तर प्रदेश में दोनो पार्टियों के वोटों को अगर मिलाकर देख लिया जाए तो भी वे भारतीय जनता पार्टी को पड़े वोटों से कम ही हैं।

2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान उत्तर प्रदेश में कुल 13,88,10,557 मतदाता थे जिनमें से 57.99 प्रतिशत यानि 8,05,00,789 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया था। इनमें से भारतीय जनता पार्टी को 42.63 प्रतिशत यानि 3,43,18,854 वोट मिले थे जबकि BSP को 1,59,14,194 और और SP को 1,79,88,967 वोट मिले थे। यानि BSP और SP को वोटों को मिला लिया जाए तो 3,39,03,161 वोट बनते हैं जो भाजपा को मिले वोटों से 415693 कम है।

यानि 2014 के चुनावों में भाजपा को 42.63 प्रतिशत मिले थे, BSP और SP के वोटों को मिला लिया जाए तो वे कुल मतदान का 42.11 प्रतिशत बैठता है। ऐसे में कहा जा सकता है कि इस बार SP और BSP का गठबंधन इस बार भाजपा को कड़ी टक्कर दे सकता है लेकिन चुनावों में सीटें कितनी निकाल पाएगा इसपर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता।

2014 के लोकसभा चुनावों में भाजपा 42.63 वोट लेकर उत्तर प्रदेश में 71 सीटें जीतने में कामयाब हो गई थी जबकि बसपा 19.77 प्रतिशत वोट लेकर एक भी सीट नहीं जीत पायी थी। समाजवादी पार्टी भी 22.35 प्रतिशत वोट लेकर सिर्फ 5 सीटें जीत सकी थी।

2014 में SP और BSP से बेहतर तो गैर मान्यता प्राप्त पार्टियां थीं जो 29,44,443 वोट लेकर भी राज्य में 2 सीटें जीतने में कामयाब हो गई थीं।

ऐसे में उत्तर प्रदेश में कांग्रेस और राष्ट्रीय लोकदल की भूमिका भी देखने लायक होगी, 2014 के चुनावों में कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में 7.53 यानि 60,61,267 वोट प्राप्त किए थे जबकि राष्ट्रीय लोक दल को 0.86 प्रतिशत यानि 6,89,409 वोट मिले थे। इतना ही नहीं, राज्य में निर्दलीय उम्मीदवारों की भूमिका को भी नहीं नकारा जा सकता, 2014 के चुनावों में निर्दलीय उम्मीदवार 1.76 प्रतिशत यानि 14,14,869 वोट लेने में कामयाब हो गए थे।

साभार- ‘इंडिया टीवी न्यूज़ डॉट कॉम’

Top Stories