Wednesday , December 13 2017

सबम हरी मुक़ाबले से अचानक दस्तबरदार

चुनाव से एक दिन पहले विशाखापटनम से जय समैक्या पार्टी के लोक सभा उम्मीदवार सबम हरी ने मुक़ाबले से दस्तबरदार होकर अवाम से माज़रत ख़्वाही की है।

चुनाव से एक दिन पहले विशाखापटनम से जय समैक्या पार्टी के लोक सभा उम्मीदवार सबम हरी ने मुक़ाबले से दस्तबरदार होकर अवाम से माज़रत ख़्वाही की है।

एक प्रेस कांफ्रेंस से ख़िताब करते हुए उन्होंने कहा कि वो मुत्तहदा आंध्र प्रदेश के हामी हैं और रियासत को मुत्तहिद रखने के लिए मुक़ाबिला कर रहे थे, ताहम सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से ये वाज़िह हो गया कि रियासत को मुत्तहिद रखना मुम्किन नहीं है, लिहाज़ा वो मुक़ाबला से दस्तबरदार हो रहे हैं, क्युंकि उनके चुनाव मैदान में रहने से गिरोह वारी रक़ाबत का रिकार्ड रखने वाली वाई एस आर कांग्रेस की उम्मीदवार विजया अम्मां को फ़ायदा होगा।

उन्होंने कहा कि वो जगन मोहन रेड्डी के मंसूबों से अच्छी तरह वाक़िफ़ हैं, जिन्होंने खु़फ़ीया साज़िश के तहत अपनी माँ को कड़पा की बजाये हलक़ा लोक सभा विशाखापटनम से उम्मीदवार बनाया है, जबकि गिरोह वारी रक़ाबत विशाखापटनम के लिए रियासत की तक़सीम से ज़्यादा नुक़्सानदेह और ख़तरनाक है।

उन्होंने अवाम से माज़रत ख़्वाही करते हुए कहा कि वो हालात को समझें और वाई एस आर कांग्रेस के ख़िलाफ़ वोट दें, जब कि तेलुगु देशम और बी जे पी इत्तिहाद रियासत की तरक़्क़ी और अवाम की ख़ुशहाली के लिए मुआविन साबित होगा।

उन्होंने अवाम से अपील की कि वो मुक़ाबले में नहीं हैं, लिहाज़ा हमें वोट दे कर अपना वोट ज़ाए ना करें। वाज़िह रहे कि रियासत को मुत्तहिद रखने के लिए कांग्रेस हाईकमान से बग़ावत करते हुए चीफ़ मिनिस्टर के ओहदे और कांग्रेस से मुस्ताफ़ी होने वाले किरण कुमार रेड्डी ने नई जमात (जयसमैक्या आंध्र) तशकील दी थी, लेकिन वो चुनाव में ख़ुद मुक़ाबला नहीं कर रहे हैं, जबकि दुसरे क़ाइदीन इन का साथ छोड़ रहे हैं। सबम हरी ने मर्कज़ में एन डी ए हुकूमत की तशकील का इद्दिआ किया।

TOPPOPULARRECENT