सबा अल्ताफ: कश्मीर की उभरती हुयी पेंटर

सबा अल्ताफ: कश्मीर की उभरती हुयी पेंटर

कश्मीर को इन दिनों हिंसा का एक बड़ा केंद्र कहा जा सकता है, लेकिन घाटी ने हमेशा कला और कविता के कई श्रेष्ठ एवं उल्लेखनीय कार्यों को प्रेरित किया है। इसी कड़ी में सबा अल्ताफ नयी युवा कलाकार हैं जो अपनी कला के माध्यम से घाटी में ख्याति प्राप्त कर रही हैं।

21 साल की उम्र में, अल्ताफ का पेंट ब्रश उसे व्यवसाय प्रबंधन की पढ़ाई की सीमाओं से परे खुद को व्यक्त करने में मदद देता है।

“इंसान को वही करना चाहिए जो उसे ख़ुशी दे। कला कुछ ऐसी चीज़ है कमाई का एक अच्छा जरिया भी है। इससे आमदनी भी अच्छी होती है और यह ख़ुशी भी देती है। अगर किसी की कला में रूचि है तो उसे ऐसे अपना पेशा बना लेना चाहिए। लेकिन आजकल ज्यादा लोग ऐसे अपना पेशा नहीं बना रहे हैं”, अल्ताफ ने कहा।

अल्ताफ उन चुनिन्दा युवा कलाकारों में से हैं जो अपनी पढ़ाई और कला के लिए प्यार के बीच सही तालमेल बैठाने में कामयाब रहे हैं। वह अपनी पेंटिंग के लिए कई पुरूस्कार जीत चुकी है और अपनी पेंटिंगों की प्रदर्शनी भी लगा चुकी है।

 

 

Top Stories