Wednesday , May 23 2018

सरकरदा शारा-ए-की शिरकत , तैय्यारीयां ज़ोर-ओ-शोर से जारी

हैदराबाद, 19 अक्टूबर : ( प्रैस नोट ) : अंजुमन महबान उर्दू का दूसरा आलमी मुशायरा बयाद फ़ैज़ 29 अक्टूबर 7 बजे शाम ललीता कलाथोरानम बाग़ आम्मा नामपली ज़ेर-ए-सदारत जनाब ज़ाहिद अली ख़ां मुनाक़िद होगा ।

हैदराबाद, 19 अक्टूबर : ( प्रैस नोट ) : अंजुमन महबान उर्दू का दूसरा आलमी मुशायरा बयाद फ़ैज़ 29 अक्टूबर 7 बजे शाम ललीता कलाथोरानम बाग़ आम्मा नामपली ज़ेर-ए-सदारत जनाब ज़ाहिद अली ख़ां मुनाक़िद होगा ।

इस अज़ीमुश्शान मुशायरा में बैरून-ए-मलिक के इलावा हिंदूस्तान के इंतिहाई नामवर शारा-ए-और हैदराबाद और अज़ला से चंद मुंतख़ब पसंदीदा शारा-ए-भी शिरकत करेंगे ।

बहैसीयत मेहमान ख़ुसूसी मर्कज़ी-ओ-रियास्ती वुज़रा , अरकान पार्लीमान-ओ-असैंबली और सरकरदा अस्हाब को मदऊ किया गया है । सारी उर्दू दुनिया में फ़ैज़ सदी मनाई जाती रही है चुनांचे अंजुमन महबान उर्दू जिस के मुशायरे मलिक के चुनिंदा मुशाविरों में शुमार किए जाते हैं फ़ैज़ की याद में भरपूर ख़राज पेश किया जाएगा ।

कन्वीनर मुशायरा सय्यद मिस्कीन अहमद ने बताया कि हैदराबाद और अज़ला के हज़ारों प्रुस्तार इन शेअर हमेशा अंजुमन के मुशाविरों में मआ अहबाब शिरकत करते हैं जहां तमाम आली अदबी रवायात और हैदराबादी तहज़ीब के साथ बेहतर से बेहतर इंतिज़ाम किए जाते हैं ।

उन्होंने तमाम उर्दू तंज़ीमों समाजी-ओ-सयासी जमातों से ख़ाहिश की है कि अंजुमन की इस अदबी सरगर्मी की हमेशा की तरह सरपरस्ती करें । एक मुरासला के ज़रीया वज़ीर-ए-आला कश्मीर उम्र अबदुल्लाह ने फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ की याद में मुशायरा के इनइक़ाद पर बानी अंजुमन सय्यद मिस्कीन अहमद को मुबारकबाद दी है और नेक ख़ाहिशात का इज़हार किया है ।

TOPPOPULARRECENT